# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

मंत्रिमंडल विस्तार की आहट, भोपाल में डंटे दावेदार, सिंधिंया के लोग भी ‘बेचैन’

Post 1

हाइलाइट्स:

  • जल्द हो सकता है शिवराज कैबिनेट का विस्तार
  • भोपाल में जमे दावेदार लगा रहे हैं सीएम हाउस का चक्कर
  • सिंधिया के साथ आए लोग भी कर रहे हैं भोपाल का दौरा
  • कैबिनेट विस्तार में अपनों को खुश करना शिवराज के सामने बड़ी चुनौती

शिवराज कैबिनेट विस्तार को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं। कोरोना महामारी के बीच भोपाल में हलचल बढ़ गई है। मंत्री पद की चाहत में लगातार बीजेपी के नेता भोपाल में डंटे हैं। सिर्फ बीजेपी के पुराने दिग्गज ही नहीं, बल्कि सिंधिया खेमे के लोग भी लगातार भोपाल आ रहे हैं। रेड जोन में शामिल भोपाल में नेता बेखौफ होकर डेरा डाले हुए हैं। अभी स्थिति ऐसी बनी है कि नेताओं को क्षेत्र की जनता से ज्यादा अपनी कुर्सी की चिंता है। चर्चा के अनुसार सीएम शिवराज इस हफ्ते मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं। सोमवार को भी उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की थी। ऐसे में दावेदारों की फौज भी भोपाल में जमा हैं। दावेदार लगातार सीएम हाउस और बीजेपी ऑफिस के चक्कर काट रहे हैं। सबसे ज्यादा चिंता पूर्व मंत्रियों को हो रही है। क्योंकि सिंधिया के लोगों के आने के बाद जगह कम हुई है। ऐसे में लॉबिंग के जरिए ही मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है।

Post 2

मंत्री पद की चाहत में रेस
मंत्रिमंडल विस्तार से पहले सबसे ज्यादा वैसे लोग चिंतित हैं, जो पूर्व की शिवराज सरकार में मंत्री रहे हैं। उनके क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण भी फैला हुआ है, लेकिन कुर्सी की चिंता ज्यादा है। पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह लंबे समय से भोपाल में डंटे हुए थे। रविवार को यहां से सागर लौटे हैं। वहीं, संजय पाठक, अजय विश्नोई और रामपाल सिंह भी लगातार भोपाल के चक्कर काट रहे हैं।

भार्गव क्षेत्र में डंटे
वहीं, पूर्व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव भी रेस में हैं। उन्हें उम्मीद थी कि पहली कैबिनेट में ही उन्हें जगह मिल जाएगी। लेकिन क्षेत्रीय समीकरण की वजह से ऐसा नहीं हुआ है। पूरे लॉकडाउन के दौरान भार्गव सिर्फ दो बार भोपाल आए हैं। वह लगातार अपने क्षेत्र गढ़ाकोटा में डंटे हुए हैं।

विंध्य वाले सबसे ज्यादा परेशान
शिवराज के सामने सबसे बड़ी चुनौती, हर क्षेत्र के लोगों को मंत्रिमंडल में प्रतिनिधित्व देना हैं। विंध्य इलाके में मंत्री पद के दावेदार ज्यादा हैं। पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला लगातार भोपाल में डटे हुए हैं। वे पूरे लॉकडाउन में कुछ समय के लिए ही रीवा गए हैं। साथ ही गिरीश गौतम, दिव्यराज सिंह, जुगलकिशोर बागरी, केदार शुक्ला, नागेंद्र सिंह और दिव्यराज सिंह भोपाल के चक्कर काट रहे हैं।

सिंधिया खेमा भी परेशान
सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर 22 लोग बीजेपी में आए हैं। 22 में से 6 तत्कालीन सरकार में मंत्री थे। उनमें से 2 को शिवराज कैबिनेट में जगह मिल गई है। लेकिन अभी भी सिंधिया खेमे के 8 लोग मंत्री पद के दावेदार हैं। वे लोग लगातार भोपाल का दौरा कर रहे हैं। सिंधिया खेमे के ज्यादातर लोग या तो भोपाल में डेरा डाले हुए हैं या फिर आ जा रहे हैं। सोमवार को बदनावपुर के पूर्व विधायक राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव ने सीएम

शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की तो महेंद्र सिसोदिया ने प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा से मुलाकात की। वहीं, प्रद्युमन सिंह तोमर और इमरती देवी लगातार भोपाल आ रहे हैं।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |