# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

छत्तीसगढ़ में ‘सपनों के सौदागर’ कहे जाने वाले अजीत जोगी नहीं रहे, जानिए कलेक्टर से सीएम बनने तक राजनीतिक सफर

Post 1

1986 के आस-पास उन्होंने कांग्रेस ज्वाइन कर सक्रिय राजनीति में किया था प्रवेश…

रायपुर। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने 74 साल की उम्र में आखिरी सांस ली। छत्तीसगढ़ियों की आवाज बुलंद करने वाले नायक की मौत छत्तीसगढ़ की राजनीति के एक युग का अंत था। जोगी का व्यक्तित्व असाधारण था उनके इस असाधारण की वजह से उन्होंने कलेक्टर से मुख्यमंत्री तक सफ़र तय किया। अजीत जोगी का पूरा नाम अजीत प्रमोद कुमार जोगी था। जब से छत्तीसगढ़ राज्य का गठन हुआ है राज्य की सियासत जोगी के इर्द-गिर्द ही घूमी। अजीत जोगी ने अपने करियर की शुरुआत बतौर कलेक्टर की थी, जोगी ने 14 साल तक कलेक्टरी की है। जिस दौरान इंदौर में कलेक्टरी कर रहे थो तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के संपर्क में आ गए। 1986 के आस-पास उन्होंने कांग्रेस ज्वाइन कर सक्रिय राजनीति में प्रवेश किया। राजनीति में प्रवेश करने के बाद जोगी ने अपनी अलग राजनीतिक पहचान बना ली, वह 1986 से 1998 तक राज्यसभा के सदस्य रहे। इस दौरान वह कांग्रेस में अलग-अलग पद पर कार्यकर रहे, वहीं 1998 में रायगढ़ से लोकसभा सांसद चुने गए। साल 2000 में जब छत्तीसगढ़ राज्य का गठन हुआ, तो उस क्षेत्र में कांग्रेस को बहुमत था। यही कारण रहा कि कांग्रेस ने बिना देरी के अजीत जोगी को ही राज्य का मुख्यमंत्री बना दिया। जोगी 2003 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे। जोगी को ‘सपनों का सौदागर’ भी कहा जाता रहा है। साल 2000 में जब जोगी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली तो जोगी ने ख़ुद अपने को ‘सपनों का सौदागार’ कहा था। उन्होंने कहा था कि- ‘हाँ मैं सपनों का सौदागर हूँ। मैं सपने बेचता हूँ।’ लंबे समय से थी तबीयत नासाज हालांकि, उसके बाद प्रदेश के साबिक वजीरे आला अजीत जोगी की तबीयत खराब होती रही और उनका राजनीतिक ग्राफ भी गिरता गया। लगातार वह पार्टी में बगावती तेवर अपनाते रहे और अंत में उन्होंने अपनी अलग राह चुन ली। अजीत जोगी ने 2016 में कांग्रेस से बगावत कर अपनी अलग पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नाम से गठन किया था। जबकि एक दौर में वो राज्य में कांग्रेस का चेहरा हुआ करते थे।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |