# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

खनन निगम रीवा द्वारा की गई जांच परसेल कला एवं हर्रा टोला क्रेशर की जांच मामला लीज से अधिक भूभाग पर उत्खनन का (रमेश तिवारी की रिपोर्ट)

Post 1

पुष्पराजगढ़ :- पुष्पराजगढ़ का मेंकांचल क्षेत्र जहां प्राकृतिक संपदा का अपार भंडार है। जिसे खनिज माफिया द्वारा वैध अवैध तरीके से उत्खनन कर खोखला किया जा रहा है। उत्खनन के लिए बड़े पैमाने पर बारूद का उपयोग किया जाता है ।जिसकी जानकारी प्रशासन व खनिज विभाग को भी है लेकिन प्रशासन व खनिज विभाग कार्यवाही करने से बचता रहा है। छत्तीसगढ़ के खनिज कारोबारी ने परसेल कला, हर्रा टोला , बड़ी तुम्मी पर्वत श्रंखला को खोखला करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। वन विभाग राजस्व व खनिज नियमों व कायदों की खुलकर धज्जियां उड़ाई गई है। शिकायत पर दिनांक 30/10/ 2020 को खनन निगम रीवा द्वारा परसेल कला जाकर संचालित क्रेशर एवं स्वीकृत खदान की जांच की गई। 

लीज से दोगुने अधिक भूभाग पर उत्खनन:-

Post 2

परसेल कला मे दिखावे के लिए इस खनिज कारोबारी ने पत्थर खदान लीज पर तो ली है लेकिन खनिज संचालक द्वारा लीज सीमा से दो गुना अधिक भूभाग पर बारूदी विस्फोट कर उत्खनन किया गया है ।अगर उनके द्वारा लीज स्थल से खोदे गए पत्थरो एवं क्ररेशर में रखे गए भंडारण का भौतिक सत्यापन कराया जाए तो कई लाख का जुर्माना होगा। उनके द्वारा राजस्व वन भूमि में भी बड़े पैमाने पर विभागीय कर्मचारियों अधिकारियों को मैनेज कर उत्खनन किया जा रहा है। परसेल कला में लीज सीमा से हटकर चारों तरफ उत्खनन कर बड़ी-बड़ी खाईया बना दी गई हैं।

विधायक ने लगाया था आरोप :-

पूर्व में कलेक्टर अनूपपुर को दिए ज्ञापन में क्षेत्रीय विधायक फुंदेलाल सिंह मार्को ने पुष्पराजगढ़ अंतर्गत परसेल कला मे सरस्वती माइनिंग के संचालक द्वारा अवैध उत्खनन किए जाने के संबंध में खनिज विभाग द्वारा कार्यवाही करते हुए सरस्वती मिनरल्स के ऊपर लगभग 8 करोड़ 75 लाख का अवैध उत्खनन का जुर्माना लगाया गया था ।परंतु खनिज विभाग के संरक्षण के कारण इतनी बड़ी राशि का अवैध उत्खनन करने वाले क्रेशर को बंद नहीं कराया गया था और कई महीने बीत जाने के बाद भी वसूली ना होना कहीं ना कहीं खनिज विभाग का संरक्षण प्राप्त होना दर्शाता है । उनके द्वारा सरस्वती मिनरल्स स्टोन क्रशर को बंद कराकर 8 करोड़ 75 लाख की वसूली किए जाने की मांग की गई थी।

असुरक्षित है खदाने :-

खनिज विभाग द्वारा कारोबारियों को खदान व क्रेशर संचालन की अनुमति में यह स्पष्ट किया गया है कि क्रेशर के चारों तरफ बाउंड्री वॉल व पर्याप्त संख्या में पेड़ लगे होने चाहिए। जिससे पर्यावरण को क्षति न पहुंचे यही नहीं खदान संचालित करने से पहले ही भूमि का सीमांकन करवाकर तारों की फेंसिंग करवाकर स्थल सुरक्षित करें तथा निर्धारित रकवे व अवधि के साथ खदान के ठेकेदार का नाम भी सूचना पटल पर दर्शाया जाए लेकिन वहां शायद सारे नियम कानून नोटों के आगे घुटने टेक दिए हैं।

एसडीएम ने की जांच :-

पुष्पराजगढ़ एसडीएम अभिषेक चौधरी (IAS) के द्वारा दिनांक 30/10/ 2020 को हर्रा टोला में संचालित प्रशांत चौधरी स्टोन क्रेशर की जाकर जांच किए। उनके द्वारा पत्थरो के भंडारण व गिट्टी की माप कराई गई। तथा क्रेशर संधारण के रजिस्टर व कागजातों को कार्यालय में लाकर दिखाने के लिए कहा गया है। परसेल कला में संचालित सरस्वती मिनरल्स स्टोन क्रेशर में भी जांच की गई वहां पर किए गए भंडारण को जांच कर स्वीकृत खदान जाकर मुआयना किए। परसेल कला में लीज से अधिक भूभाग पर उत्खनन कर बड़ी-बड़ी खाई बना दी गई है।

खनन निगम रीवा द्वारा की गयी जांच :-

सरस्वती मिनरल्स स्टोन क्रेशर की शिकायत मिलने पर खनन निगम टीम रीवा परसेल कला पहुंचकर सरस्वती मिनरल स्टोन क्रेशर एवं स्वीकृत लीज की जांच कि गयी । खनन निगम के साथ में जिले की माइनिंग इंस्पेक्टर ईशा वर्मा भी साथ में थी। खनन निगम टीम रीवा द्वारा क्रेसर में किए गए भंडारण एवं लीज पर ली गई खदान का अवलोकन किए। तथा स्वीकृत खदान के रखवे निकाले गए पत्थर की माप की गई है। विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरस्वती मिनरल्स स्टोन क्रेशर के संचालक द्वारा लीज सीमा से दो गुना अधिक भूभाग पर उत्खनन किया गया है। उसकी जांच की गई है साथ ही क्रेशर के भंडारण संबंधित सभी कागजात रजिस्टर वगैरह की जांच की गई है।

इनका कहना है

कार्यालय के समय आकर हमसे मिलकर आप जानकारी ले सकते हैं ।
पीके राय
खनिज अधिकारी अनूपपुर

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |