नई दिल्ली : इंडिया पोस्ट का पेमेंट बैंक तीन तरह के अकाउंट को खोलने की सुविधा देता है। इंडिया पोस्ट के पेमेंट बैंक को जनवरी 2017 में लॉन्च किया गया था। वर्तमान समय में इंडिया पोस्ट के पेमेंट बैंक के सेविंग अकाउंट में 1 लाख रुपए तक की नकदी जमा रखने की अनुमति है। इस अकाउंट पर डिजिटल पेमेंट और रेमिटेंस सर्विस की सुविधा भी मिलती है। कोई भी इसमें खाता खोलने के लिए तीन विकल्पों में से एक को चुन सकता है।

इनमें रेगुलर सेविंग अकाउंट ‘सफल’, बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट अकाउंट (बीएसबीडीए) या ‘सुगम’ या फिर बीएसबीडीए स्माल ‘सरल’ शामिल हैं ये तीनों ही जीरो बैलेंस अकाउंट हैं। यानी इसमें हर महीने मिनिमम बैलेंस को मेंटेन करने की अनिवार्यता को पूरा नहीं करना होता है। हम अपनी इस खबर में आपको इन तीनों ही खातों के बारे में बता रहे हैं।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आइपीपीबी) के सरल, सफल और सुगम बैंक खाते किसी के नाम पर भी खोले जा सकते हैं। व्यक्ति की न्यूनतम उम्र 10 वर्ष होनी चाहिए। आवेदक के लिए केवाइसी (नो योर कस्टमर) वेरिफिकेशन जरूरी है।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में आवेदक न्यूनतम 100 रुपये से भी रेग्युलर सेविंग्स एकाउंट (सफल) खुलवा सकता है। सरल और सुगम खातों में इस तरह की कोई जरूरत नहीं है। खाताधारक के लिए इन तीनों में से किसी में भी मिनिमम बैलेंस एवरेट मेंनटेन करने की जरूरत नहीं है। हालांकि, सफल और सुगम में एक बार में एक लाख रुपये की अधिकतम राशि डाल सकते हैं।

इन तीनों खातों के लिए कुछ सेवाएं मुफ्त हैं। इन मुफ्त सेवाओं में एटीएम कार्ड या डेबिट कार्ड, मोबाइल अलर्ट या डुप्लीकेट बैंक स्टेटमेंट की प्रींटिंग आदि शामिल है।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के इन तीनों बैंक में पहला डेबिट कार्ड मुफ्त में जारी किया जाता है। लेकिन इसके बाद फिर से जारी करने पर 100 रुपये देने होंगे।

जानकारी के लिए बता दें कि बैंक एनईएफटी और आइएमपीएस के लिए 2.5 रुपये से लेकर 5 रुपये तक चार्ज करता है।

हर एक बैंक खाते से महीने में चार बार तक बिना किसी शुल्क के ट्रांजैक्शन किया जा सकता है। चार की सीमा के बाद 20 रुपये प्रत्येक वित्तीय ट्रांजैक्शन लिया जाता है। वहीं गैर वित्तीय ट्रांजैक्शन के लिए 8 रुपये चार्ज किये जाएंगे।

By Surbhi Jain