# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

लंबित मांगो को लेकर म.प्र. लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ अनिश्चित कॉलीन हडताल पर

Post 1

लंबित मांगो को लेकर म.प्र. लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ अनिश्चित कॉलीन हडताल पर….

अनूपपुर।

लिपिको की ग्रेड पे उन्नयन सहित रमेशचंद्र शर्मा समिति की अनुशांसाएं लागू करने हेतु म.प्र. लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ ने मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव के नाम कलेक्टर अनूपपुर को ज्ञापन सौंपा अनिश्चि कॉलीन ह$डताल पर बैठ गए है। ज्ञापन में बताया गया कि वर्तमान सरकार ने सभी संवर्गो पर ध्यान दिया है और सभी कर्मचारी वर्गो को कुछ न कुछ मिला है, विगत समय में अध्यापक, पंचायत सचिव, होमगार्ड, पेंशनर, आंगनबाडी कार्यकर्ता इत्यादि को वेतन वृद्घि की गई है। 29 मई 18 में कैबिनेट में एक साथ 45 संवर्गो की ग्रेड पे बढाई गई है। इसके लिए शासन के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते है। लेकिन म.प्र. के लिपिक वर्ग की वेतन विसंगति का मुद्दा निरंतर शासन के ध्यान से छूटता रहा है। अभी 29 मई की कैबिनेट में जिन 46 संवर्गो की ग्रेड पे बढाई गई है | 7 जून 18 में ग्रेड पे संवर्गो की परस्परिक सापेक्षता के आधार पर बढाई जाना उल्लेखित किया गया है किन्तु यह अत्यंत विरोधाभाषी है कि 46 संवर्गो की ग्रेड पे पारस्परिक सापेक्षता के आधार पर बढाई जाती है और लिपिक के मामले में पारस्परिक सापेक्षता के सिद्घांत को लागू नही किया जाता उल्लेखनीय है कि पटवारी, सहायक शिक्षक, एमपीडब्लयू, एएनएम, व्हीएफए, ग्राम सेवक, ग्राम सहायक से सब संवर्ग लिपिक से कम थे अब तक अधिक वेतन पर हो गए है परंतु यहां पर पारस्परिक सापेक्षता का ध्यान नही रखा गया। भारत सरकार से अधिक योग्यता राज्य शासन के लिपिक हेतु ली जा रही है समान काम/समान योग्यता वाले दो संवर्ग है। जिनकी वेतन अलग-अलग है। सहायक ग्रेड – 3 एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर। लिपिकों की समस्याओं का अध्ययन करने हेतु रमेशचंन्द्र शर्मा समिति गठित की गई थी जिसके प्रतिवेदन में लिपिक हितैषी 23 अनुशंसाएं है परंतु मुख्यमंत्री की लिपिको के प्रति सवेंदनशीलता/उदारता के बावजूद अडियल नौकरशाही उन 23 अनुशंसाओं को लागू करने को तैयार नही है। सवेंदनशीलता/उदारता के बावजूद अडियल नौकरशाही उन 23 अनुशंसाओं को लागू करने को तैयार नही है। मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक एवं म.प्र. लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी के प्रांताध्यक्ष मनो बाजपेयी निरंतर उच्च स्तर पर वर्ताएं ज्ञापन दे रहे है और अपने तर्क प्रस्तुत कर रहे है परंतु उच्च अधिकारी लोग ध्यान देने को तैयार नही है। अतएव म.प्र. लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ की जिला शाखा अनूपपुर आपसे अनुरोध करती है कि लिपिको की ग्रेड पे उन्नयन सहित रमेशचन्द्र शर्मा समिति की  23 अनुशंसाएं लागू करे

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |