# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

करौंदी पंचायत में कैद भ्रष्टाचार का जिन्न ( पुष्पराजगढ़ से आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

 

पुष्पराजगढ़ :-

सचिव-सरपंच रोजगार सहायक ने मिलकर योजनाओं में लगाया पलीता

Post 2

पुष्पराजगढ़ जनपद पंचायत पूरे जिले में अपने कारनामों के लिए पहले ही ख्याति प्राप्त कर चुकी है, नया मामला जनपद पंचायत क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम करौंदी का है, जहां फर्जी बिलों का जो खेल-खेला गया यह किसी से छिपा नहीं है, लेकिन यहां कार्यरत सचिव, सरपंच और रोजगार सहायक ने भाजपा की केन्द्र सरकार की स्वच्छ भारत अभियान को भी पलीता लगाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़े है, एक ओर प्रधानमंत्री के सपने के तहत देश को ओडीएफ करने के फेर में हर सरकारी नुमाईंदा लगा हुआ है, और प्रशासन ने बाकायदा इसके लिए जिले तथा जनपदों को पुरूस्कृत करने का भी काम रही है, वहीं करौंदी पंचायत में आज भी शौचालय के गड्ढे जहां खुले पड़े हैं, वहीं एक दरवाजे का कई शौचालयों के सामने फोटो खिचाने के लिए उपयोग किया गया है, मजे की बात तो यह है कि जनपद में बैठे नुमाईंदो ने भी आज तक जांच करने की जहमत नहीं उठाई।

एक दरवाजा कई शौचालय

करौंदी पंचायत में बनाए गए शौचालयों की स्थिति किसी से छिपी नहीं हैं, कहीं शौचालय अधूरे पड़े हैं, तो कहीं एक दरवाजे की फोटो लगाकर कई शौचलयों की राशि निकाल ली गई है, सूत्रों की माने तो कुछ परिवारों का शौचालय बना नहीं और वेण्डर के खाते में एक साथ पेमेंट सचिव व रोजगार सहायक द्वारा कर दिया गया, स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर पंचायत के वेण्डरों सहित बिलों की जांच सूक्ष्मता से अधिकारियों के द्वारा किया जाये तो जनपद में हुए भ्रष्टाचार को पीछे छोड़ करौंदी पंचायत भ्रष्टाचार की नई इबारत लिख सकती है और कई के चेहरों से नकाब भी उतर सकता है।

योजना पर लगाया पलीता

एक ओर जहां क्षेत्र में चुनाव के बाद अब परिणामों का समय आ गया है, वहीं क्षेत्र में बैठे नेताओं ने भी प्रदेश सरकार की योजनाओं को ग्रामीण अंचल में जाकर नहीं देखा कि क्या योजनाओं का पूर्ण रूप से धरातल पर क्रियान्वयन हुआ है आज उसका ही खामियाजा सरकार को उठाना पड़ रहा है, स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर वर्तमान में हुए विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी दल का विधायक नहीं जीतता है तब इसकी पूर्ण जिम्मेदारी धरातल पर काम कर रहे प्रशासन के नुमाईंदों की होगी, क्योंकि उन्होंने योजनाओं का धरातल पर सही रूप से क्रियान्वयन नहीं किया है।

अधूरे पड़े शौचालय ओडीएफ है पंचायत

पंचायत अंतर्गत शौचालय के लिए खुदे गड्ढे मुसीबत बन गए हैं, आए दिन यहां जानवर के साथ लोग गिर जाते हैं, और चोटिल हो रहे हैं,विगत कुछ दिनों पूर्व वृद्ध महिला ओडीएफ घोषित पंचायत में खुले में शौच के लिए गई थी वापिस आते समय अधूरे पड़े शौचालय के गड्ढे में गिर गई और उसके कमर पीठ वा पैरो में गंभीर छोटे आई तब जाकर पंचायत कर्मियों के आँखों में जमी धूल हटी और अधूरे पड़े शौचालय के गड्ढो में ढक्कन लगाने का कार्य सुरु किया गया,इधर ग्रामीणों का आरोप है कि न तो शौचालय पूरे हो पा रहे हैं और न ही गड्ढों का कोई निराकरण निकल पा रहा है, सूत्रों की माने तो ग्राम पंचायत के वेण्डरों सहित अगर बिलों की जांच हो जाये तो सचिव, सरपंच और रोजगार सहायक द्वारा किये गये भ्रष्टाचार का जिन्न बोतल से बाहर आ सकता है।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |