# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

यमराज बनकर दौड़ रहे बाक्साइड से लदे वाहन ( आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

कार्यवाही के नाम पर हो रही महज खानापूर्ति

क्षेत्र में ओवरलोड वाहन धड़ल्ले से दौड़ रहे हैं, पुलिस इक्का दुक्का वाहन पर कार्यवाही कर वाहवाही लूटने में लगी है। कई थाना के सामने से ही दिन भर सैकड़ों ओवरलोड वाहन गुजरते हैं, इन वाहनों से स्कूली छात्र-छात्राओं को भी खतरा बना रहता है। सड़क दुर्घटनाओं में वाहन के चालक नशे की हालत में कई दफा पाए गए हैं, लेकिन पुलिस इन पर लगाम लगाने में विफल रही हैं। दुर्घटनाओं के बाद अपना दामन बचाने के लिए छुटपुट कार्रवाई कर पुलिस आंकड़ो की बाजीगरी में व्यस्त रहती है। अनूपपुर जिले के पुष्पराजगढ़ अंचल से आने वाले ओव्हर लोड बाक्साइड के भारी वाहन खुलेआम यातायात और परिवहन विभाग के नियमों का माखौल उड़ाते नजर आ रहे हैं, राजेन्द्रग्राम एसडीओपी और उनके अधिनस्त पुलिसकर्मि इन ओव्हर लोड वाहनों को नसीहत देने में नाकामयाब साबित हो रहे है। या ये सब सेटिंग का खेल है..? विभाग की सुस्त प्रणाली के चलते आये दिन दुर्घटना की सम्भावना बनी रहती है, प्रभारी के सुस्त रवैया के कारण पहाड़ से उतरने तथा पहाड़ चढने वाले रेत से भरे वाहन अपने मालिकों की और ज्यादा पैसे की लालच या जगह जगह लगने वाले इंट्री की भरपाई के लिए ओव्हर लोड लेकर वाहन चलाते नजर आ जाते हैं।

नहीं होती जांच

Post 2

सुबह से देर रात तक ओवरलोड वाहन सड़कों पर दौड़ते नजर आते हैं। मोटी कमाई के फेर में वहन मालिकों को यातायात नियमों का ध्यान ही नहीं रहता। दूसरी ओर राजेन्द्रग्राम पुलिस सहित मुख्यालय में पदस्थ यातायात अमले के द्वारा भी ऐसे माल वाहक वाहनों पर कार्रवाई नहीं की जाती। ऐसे में वाहन मालिक व चालकों के हौसले बुलंद हैं। मालवाहक वाहन चालक बेखौफ सड़कों पर पुलिस और यातायात के नाक के नीचे ओवरलोड वाहन पार कर रहे हैं। पुलिस द्वारा छोटे वाहनों पर छुट-पुट कार्रवाई की जाती है, लेकिन भारी वाहनों की जांच तक नहीं की जाती। जिससे इन वाहनों के चालकों को यातायात नियमों से कोई सरोकार नहीं रहता और वे जब चाहे तब मनमाने ढंग से खनिज लोड कर गंतव्य की ओर रवाना हो जाते हैं।

हादसे का खतरा

ओवरलोड वाहनों के दबाव से जहां सड़कों की हालात बद से बदतर होती नजर आ रही है, वहीं राहगीरों कि धड़कने भी तेज हो जाती हैं, पुष्पराजगढ़ अंचल की ओर से आने वाले बॉक्साइड के गिरने का भय तो रहता ही है साथ ही कई बार ओवरलोड की वजह से वाहन अनियंत्रित होने से हादसे के शिकार भी हो जाते हैं। जिसकी चपेट में आने से लोगों की जान भी जा सकती है। कई बार ओव्हर लोड होने की वजह से किरर घाट में या तो बॉक्ससाइड ले जा रहे वाहन पलटे नजर आते हैं या फिर रेत से भरे वाहन जो पहाड़ चढ़ रहे होते हैं वे पलटे नजर आते हैं, इन हादशों मे कई बार ड्राइवर सहित परिचालक भी मौत के मुंह में समा चुके हैं।

सिर्फ होती खानापूर्ति

ओव्हरलोड वाहनों पर कार्रवाई तो ना के बराबर होती है, शायद यही वजह है कि पहाड़ में क्षमता से अधिक लोड वाले वाहनों की तादात बढ़ती जा रही है। हालांकि विभाग बीच-बीच में चैक चैराहों पर ओवरलोड वाहनों की जांच कर कार्रवाई की बात करता है, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। जब भी इस तरह की कार्रवाई होती है तब अन्य प्रांत के कुछ ओव्हरलोड वाहनों के चालकों से चालान वसूल किया जाता है, जबकि पुष्पराजगढ़ से अनूपपुर की ओर हर रोज दौडने वाले मालवाहक वाहनों पर कार्रवाई ही नहीं हो पाती।

नौसिखियों दौड़ा रहे वाहन

अधिकांश 709 पर नौसिखिया चालक हैं जिनकी उम्र सोलह से तीस वर्ष तक ही होती है। जिनमें से कई के पास लाइसेंस तक नहीं होता और न ही उन्हें ट्रैफिक नियमों की कोई जानकारी होती है, इसके बाद पूरे क्षेत्र में यह वाहन चालक धड़ल्ले से वाहन दौड़ रहे हैं, यह दीगर बात है कि ओवरलोड खनिज सामग्री ढोने वाले लोगों का नेटवर्क एसडीओपी थाना क्षेत्र के कुछ सफेदपोशों के साथ-साथ पुलिस के चंद कर्मचारियों से भी है, जिससे वह खुलेआम इस अवैध कृत्य को अंजाम देने में जुटे हुए हैं, इसी वजह से यह ओवरलोड वाहन अपने गंतव्य तक पहुंचने में कामयाब रहते हैं।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |