# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

..तो क्या “आजाद” अब भारत के नागरिक नही ?

Post 1
  “”आशुतोष सिंह””
जी हाँ हम बात कर रहे हैं व्यंग के सरताज राजकमल पांडे की “आजाद” नाम लिख कर उन्होंने पहले ही सियासतदारों को आगाह कर दिया था कि कलम बिक नही सकती”””” कलम रुक नही सकती””” कलम झुक नही सकती”””…… आजाद जी की अनगिनत लेख, कविताएं, व्यंग आदि पढ़कर लोगों ने उनकी लेखन क्षमता का लोहा माना है। वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य पर कड़ा प्रहार करने की क्षमता रखने वाले “आजाद” जो पाई जी के किरदार गढ़कर अपनी बातों को दमदार तरीके से रखा और “कुमार विश्वास” जैसे कवि का भी ध्यान आकर्षित करा चुके हैं । बड़े दुर्भाग्य का विषय है अब वो “””देश के नागरिक नही रहे””” और ये सब सम्भव हो सका भृष्ट, कुर्सी तोड़, और लापरवाह प्रशासन की वजह से…..

बड़ा आश्चर्य होता है यह जानकर कि उनका नाम बोटर लिस्ट से काट दिया गया…….. ! पूछे जाने पर सफाई दी जाती है, भूल वश….
अरे ये भूल वर्तमान या पूर्व विधायक के नामो के साथ कभी नही होती……?
ये भूल प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ नही होती……?
आरे आलस और मन्द बुद्धि से बाहर आइये, मुर्गिचोर जैसी बचकाना हरकत मत कीजिये…….कभी तो विवेक का स्तेमाल करो…. या हमेशा हराम की रोटी ही तोड़ोगे…..? और जनता की गाढ़ी कमाई को हराम की मोटी तनखाव की मलाई ही मान कर खाते रहोगे…..?
तुम यदि साजिस भी कर रहे हो तो शर्म करो वो तुम्हारे करनी, कथन, का आईना है, वो आजाद है आजाद ही रहेगा तुम्हारी कर्तव्य परायणता पर उंगली उठाता है उठाता ही रहेगा।
एक आजाद ने आजादी दिलवाई है एक आजाद आईना दिखाता है। ये देश है अजादों का……
ये देश है आजाद…..
तुमने अपनी कथाकथित जानकारी वाली औकात दिखाई है तुम्हारे नाम काटने वाली कायराना हरकत उन्हें देश की नागरिकता से बाहर नही कर सकती। अपनी गलती का एहसास कर जल्द गलती सुधार लो वरना……..
“”” कलम के सिपाही सियासत की कुर्सी पर तांडव करना जानते है…….सच्चाई पर चमचा गिरी की ओढ़ी गई इस चादर को कफ़न लिखना जानते हैं।।””””

वैसे भी उन्होंने सोसल मीडिया के माध्यम से आगाह कर दिया है…..
‘‘सियासत के तलघरों में बैठे कुछ गिद्धों के चोंच के इशारों पर नाचने वाले जिले के प्रशासनिक नुमाईंदों ने आज मेरे मौलिक अधिकारों का हनन कर दिया! आप मेरे अधिकारों का हनन जरूर कर सकतें हैं, अपितु मेरे कलम की धार अपने सत्ता के अनुकूल कभी नही कर पाएंगे। अनूपपुर न.पा.चुनाव सम्पन्नता के लिए जो-जो जरूरी है, उस पर अभिषिक्त रहिये व साथ ही जब तुम जिले के शाहबानों ने मेरा वध कर ही दिया है, तो मेरा मृत्यु प्रमाण-पत्र भी मेरे गृह निवास पर पहुँचा दीजिये! ताकि मैं मड़वा सकूँ ?

 

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |