# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

यात्रियों की सुरक्षा के साथ हो रहा खिलवाड़ ( आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

जानवरों के तर्ज पर यात्रा करने को मजबूर

जिले सहित नगर से होकर गुजरने वाली बसों, टैक्सियों, ऑटो आदि में यात्रियों के जान माल का वाहन संचालक सौदा कर रहे है। कोतमा पुष्पराजगढ़ सहित अन्य आस पास के क्षेत्रो में संचालित बस स्टेन्डो से निकलने वाली लगभग आधा सैकडा बसो का यही हाल नजर आ रहा है। बसो में यात्रियो की खचाखच भीड़ के साथ समानों का भी परिवहन किया जा रहा है। बसों में लगेज रखने के स्थान पर बडे – बडे सामान भी अन्य स्थानो तक मालवाहक वाहन बना कर पहूँचाए जा रहे है। वंही टैक्सियों में ऊपर भी छतों में सवारी बैठाई जाती है। ऐसी स्थिति में कभी भी बडी घटना घट हो सकती है। परिवहन विभाग के द्वारा इन बसो को परमिट तो उपलब्ध करा दी जाती है, लेकिन विभाग द्वारा इसकी निगरानी नही की जाती है। जिससे बस संचालकों के हौसले बुलन्द रहते है वा मनमानी तरीके से परिवहन कार्य करते हैं।

बसों को बना लिये हैं मालवाहक वाहन

Post 2

अनुपपुर जिले के लगभग सभी बस स्टैंडों से प्रतिदिन आधा सैकडा बसों का आवागमन होता रहता है। इन बसो पर क्षमता से अधिक यात्री खुलेआम भरे जाते है। साथ ही व्यपारियों के समानों को भी परिवहन कर गन्तव्य तक पहूँचाया जाता है। हाल यह है कि कभी कभी रूई के बडे वन्डल तो कभी बर्तन के बड़े झाल बसों टैक्सियों में लदे रहते हैं, इन बंडलों की ऊंचाई तय ऊंचाई से ज्यादा होती है और ऐसे वाहन परिवहन करते आसानी से देखे जा सकते है। ये स्वीकृत ऊंचाई से ज्यादा तक लदे सामान नगर से लेकर गांवों तक लाया लेजाया जाता हैै। जिससे हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। कभी भी बिजली के नंगे तारों की चपेट में आ कर बेगुनाह यात्रियों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ सकता है।

ग्रामीणों क्षेत्रो में भी की जा रही लापरवाही

व्यपारियो की माने तो बसो से माल परिवहन कराना अपेक्षाकृत काफी सस्ता होता है। बसों, टैक्सियों से माल परिवहन कराने पर जंहा समय की बचत होती है वंही भाड़ा भी कम लगता है। समय पर सामान असानी से गन्तव्य तक पहुंच जाता है। वही दूसरी तरफ बस संचालकों को भी अतिरिक्त आय प्राप्त होती है, इसलिए खुलेआम यात्री बसो को मालवाहक के रूप में उपयोग करते है। ऐसी बसो का सबसे ज्यादा उपयोग ग्रामीण क्षेत्रो में होता है। इस दिसा में न तो यातायात विभाग ध्यान दे रहा है न ही परिवहन विभाग के द्वारा ध्यान दिया जा रहा है। दोनो ही विभाग उदासीन बने हुए हैं।

चिल्लर पैसों का बहाना बना वसूलते हैं मनमाना किराया

यात्रियो ने बताया की बस संचालको सहित टेक्सी चालक भी मनमानी करते हैं, ये वाहन संचालक अधिक पैसे कमाने के चक्कर में अपने बसो पर न तो किराया लिस्ट चस्पा करते है ना ही सही दाम से यात्रियों से किराया लिया जाता है। कहा जा सकता है कि बस संचलाचक यात्रियो से ममनमाना किराया वसूल करते है। जिन यात्रियों को यात्रा स्थान तक का किराया पता होता है उनसे चिल्लर पैसों का बहाना बना कर अतिरिक्त पैसे ऐंठ लिए जाते हैं।

संयुक्त चेकिंग अभियान चलाकर करे कार्यवाही

बसों, टैक्सियों में मावेशियों की तरह यात्री भरकर परिवहन कराया जाता है और यात्रियों को मजबूरन इन ठसाठस भरी बसों में बैठना पड़ता है। जिससे यात्रा करने वाले यात्रियों को भारी परेशानी के साथ जान जोखिम में लेकर यात्रा करनी पड़ती है। इन बसों, टैक्सियों कि चेकिंग संयुक्त रूप से अभियान चलाकर करने की आवश्यकता है तब कंही बस टैक्सी संचालकों के उपर नकेल कसा जा सके साथ ही दोसी पाए जाने पर सख्त कार्यवाही की जाये। ताकि यात्रियों को आवागमन में परेशानियों का सामना न करना पड़े। साथ ही जान माल की सम्भावित घटना को भी टाला जा सके।

इनका कहना है

जिन गाड़ियों में ओवर लोड का प्रकरण सामने आएगा उन पर कार्यवाही की जाएगी ।

ब्रजेन्द्र मिश्रा
यातयात प्रभारी अनुपपुर

बसों की जानकारी दीजिए उनको दिखवाते हैं यदि तय सीमा से ज्यादा ऊंचाई तक समान पाया जाता है उन पर आवश्य कार्यवाही की जाएगी।

ललिता प्रसाद शोनवानी
परिवहन विभाग अनुपपुर

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |