# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

ठेकेदार द्वारा श्रम कानून की उड़ाई जा रही धज्जियां ( आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

मामला लोकयांत्रिकी विभाग का

लोक स्वास्थ यांत्रिकी विभाग अनूपपुर के खण्ड पुष्पराजगढ़ मे ठेकेदार रामनरेश बोहरे मेसर्स सिद्ध बाबा कन्सट्रेक्सन द्वारा विभागीय आला अधिकारियों से मिली भगत कर श्रम कानून को मजाक बनाया जा रहा है दो लेबरो के भरोसे 119 ग्राम पंचायतों के हैण्डपंप मरम्मत का कार्य किया जा रहा है। 20 से 25 पाइप इन्ही दो लेबरों के माध्यम से निकाली वा लगाई जाती है। 3.25मी. की ये पाइप 10 किलो बजन की होती है सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि मजदूरों का किस कदर शोषण किया जा रहा है। अब यह तो विभागीय आला अधिकारी ही जाने कि यह कैसे संभव है।

दो लेबरो के भरोसे 119 ग्राम पंचायतों के हैण्डपंप

Post 2

ठेकेदार द्वारा श्रम कानून का खुलेआम उलंघन करते हुये महज दो मजदूरों से 119 ग्राम पंचायतों के बिगड़े हैण्डपंपों का सुधार कार्य कराया जा रहा है यह बात गले नही उतरती कि मात्र दो मजदूर एक हैण्डपंप का सुधार कार्य कैसे कर सकते है ? वहीं इन्ही दो मजदूरों से 119 ग्राम पंचायतों के 267 ग्रामों मे लगे सैकड़ों हैण्डपंप सिद्धबाबा कन्सट्रेक्सन द्वारा महज कागजों मे सुधरवा दिये जाते है। विभागीय आला अधिकारी कुम्भकरणी निद्रा मे रहकर अपना कमीशन प्राप्त कर लेते है। ठेकेदार ने ना तो मजदूरों का श्रम कार्यालय मे रजीस्ट्रेसन कराया है, ना ही मजदूरों के पीएफ आदि के दस्तावेज जमा कराये है और ना ही इनका बीमा कराया गया है। यदि ऐसे मे कोई बड़ी दुर्घटना मजदूरों के साथ घटित होती है तब ठेकेदार द्वारा जहां हाथ खड़ा कर लिया जायेगा वहीं विभागीय अधिकारी अपना पल्ला झाड़ लेगें तब इन गरीब मजदूरों का क्या होगा ?

ईपेमेंट की जगह किया जाता है नगदी भुगतान

भारत सरकार द्वारा सभी विभागों को डिजिटल इंडिया के माध्यम से आपस मे जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही पारदर्शिता भी बनाई जा रही है। उसी तारतम्य मे लगभग सभी विभागों मे कार्यरत कर्मचारियों का भुगतान ईपेमेंट के माध्यम से करना सुनिष्चत किया गया है वहीं ठेकेदारों के लिये भी यही नियम लागू होता है। जबकि मेसर्स सिद्धबाबा कन्सट्रेक्सन द्वारा मजदूरी भुगतान मे पारदर्शिता ना बरतते हुये नियम कानून को ताक मे रखकर नगद वा कम मजदूरी का भुगतान किया जाता है यह भुगतान भी नियमित रुप से ना कर महीनों बाद मजदूरों को दिया जाता है जिससे गरीब मजदूरों का खुले आम षोषण हो रहा है। साथ ही किसी पंचायत के बिगड़ एक हैण्डपंप की जगह फर्जी तरीके से चार से पांच हैंडपंपो की रिपेयरिंग होना बता दिया जाता है जिससे जहां सरकारी पैसों का दुरुपयोग होता है वहीं मजदूरों से तय भार क्षमता से ज्यादा का कार्य भी कराया जाता है। गरीबी से बेबस लाचार मजदूर सब कुछ सहते हुये कार्य करने को मजबूर है।

क्या कहते है नियम

नियमानुसार एक मरम्मत कार्य मे लगे वाहन पर पांच मजदूरओं का होना आवष्यक है ठेकेदार द्वारा दो वाहनों के बीच मे महज दो ही मजदूर रखे गये है। इन मजदूरों की जानकारी श्रम विभाग को दिया जाना, मजदूरों का अनिवार्य रुप से बीमा कराना, कर्मचारी की सूची चस्पा करना, ईपेमेंट के माध्यम से भुगतान करना, पीएफ आदि फण्ड के लिये आवष्यक दस्तावेज जमा कराना आवष्यक होता है किन्तु ऐसा कुछ नही होने पर भी ठेकेदार की मनमानी बेदस्तूर जारी है जबकि इन नियमों के पालन नही करने पर ठेकेदारी को विभागीय आला अधिकारियों द्वारा निरस्त किय जा सकता है। वर्षो से मनमानी कर रहे मेसर्स सिद्ध बाबा कन्सट्रेक्सन के मालिक रामनरेश बोहरे पर आखिर विभाग क्यूं महरबान बना हुआ है ?

इनका कहना है

चाहे वो एक भी मजदूर ना रखे हमे तो हैंडपंप बनने से मतलब है श्रम विभाग के उलंघन से हमे कोई लेना देना नही है, ये ठेकेदार जाने।
जिला लोक स्वास्थ यांत्रिकी अधिकारी
एच.एस. धुर्वे

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |