# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

पुलिस करती है हादसे का इंतजार नही होती ओव्हर लोड टैक्सी पर कार्यवाही ( पुष्पेंद्र रजक की रिपोर्ट )

Post 1

जिस तरह सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतिम दिन पिकअप ने किशोर को रौंद कर मौत के घाट उतार दिया नतीजतन राजेन्द्र ग्राम पुलिस के द्वारा वाहनों को दी जा रही खुली छूट एवं संरक्षण के कारण आज पूरे मध्यप्रदेश में सड़क सुरक्षा सप्ताह अभियान के समापन में अन्य थानों में पुलिस बड़े बड़े पोस्टर लगाकर लोगो को एकत्रित कर यातायात के नियमो का पाठ पढ़ा कर अपनी पीठ थपथपा रही थी वही राजेन्द्रग्राम पुलिस हर सप्ताह की भांति इंट्री बसूली करने में मशगूल थी वही जोहिला पुल के पास लापरवाही पूर्वक तेज रफ्तार से चली आ रही पिकअप ने तारिक अनवर (शिब्बू) पिता हैदर अली 11 वर्ष निवासी राजेन्द्रग्राम को रौंद दिया जिससे मासूम शिब्बू मोके में ही दम तोड़ दिया जिससे हैदर अली का परिवार बिखर गया जिससे पूरे नगर में मातम छा गया और पुलिस कागजी खाना पूर्ति कर परिजन को होनी और हादसा बताकर सांत्वना दे रही है पर पता नही वाहन चालकों की लापरवाही और पुलिस की छूट की वजह से न जाने और कितनी जाने जाएगी जिसका अंदाजा लगा पाना मुश्किल है। आखिर कौन है मासूम शिब्बू के मौत का गुनहगार आखिर इस तरह की लापरवाही और बे खौफ दौड़ रही टैक्सियां और कितनी जाने लेंगी और कब लगेगा इन पर अंकुश और कब जागेगा पुलिस प्रशासन क्या चला पायेगा इन पर अपना चाबुक ये चिंतन का विषय है।

इंट्री बसूली तक सिमट कर रह गया यातायात सुरक्षा सप्ताह

जहाँ एक ओर समूचे मध्यप्रदेश में शासन द्वारा प्रदेश भर के प्रत्येक जिले के सभी थानों में एक सप्ताह के लिए यातायात सुरक्षा पखवाड़ा चलाये जाने का निर्देश जारी किया गया था की पुलिस द्वारा एक सप्ताह में लगातार वाहन चालकों एवं आमजन मानस को रैली, पंपलेट एवं नगर के चैंक- चैराहों में स्टॉल लगाकर लगातार सड़क से हो रही दुर्घटनाओं एवं मौतों से बचकर सुरक्षित घर पहुंचने के लिए जन जागरूकता अभियान चलाकर समझाईश दिया जा रहा था जिसके संबंध में अनूपपुर पुलिस अधीक्षक द्वारा सड़क सुरक्षा सप्ताह चलाने का फरमान भी जारी किया गया था उक्त अभियान के अंतर्गत संबंधित थाना के थाना प्रभारी एवं पुलिस की उपस्थिति में वाहन चालकों, दो पहिया वाहन, आटो चालक एवं चार पहिया वाहन के चालकों सहित आम जनमानस को एकत्रित कर समझाईश दिया जाना था एवं ट्राफिक के नियमों का पालन कराये जाने का संकल्प दिला कर पखवाड़े का समापन किया जाना था। परंतु राजेन्द्रग्राम थाना अंतर्गत उक्त अभियान का मजाक बना कर रख दिया न कही सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया गया न कही पोस्टर लगाए गए और न ही यातायात के नियम बताए गए और न ही यातायात को लेकर नगर में कोई पुलिस मार्च निकाला गया और तो और सड़क सुरक्षा सप्ताह पर चालानी कार्यवाही राजेन्द्रग्राम थाना 04 पहिया 21 वाहन 21500 दो पहिया वाहन 39 जिसकी चलानी राशि 9750 एवं करनपठार थाना 07 चार पहिया वाहन 3500 दो पहिया वाहन 06 चलानी राशि 1500 एवं थाना अमरकंटक 06 चार पहिया वाहन 3900 एवं 34 दो पहिया वाहनों की चलानी राशि अनुविभागीय अधिकारी प्रतिपाल सिंह जी के मार्गदर्शन में कार्यवाही कर शासकीय कोश में जमा कर उक्त अभियान पर अमली जामा पहना कर इति श्री कर दिया गया।

Post 2

पुलिस के सामने भरी जाती है ठूस ठूस कर सवारी

राजेन्द्रग्राम थाने के सामने से टैक्सी ऑटो पिकअप में छमता से कई गुना ज्यादा सवारी जो आगे पीछे तो क्या छत के ऊपर तक सवारी बैठा कर चंद रुपयों के कारण मुसाफिरों की जिंदगी दाव में लगाकर जिंदगी और मौत से खिलवाड़ किया जाता है और पुलिस तमाशबीन बनकर सिर्फ इंट्री बसूली कर उन्हें खुली छूट देकर हाथ पर हाथ रखकर कोई बड़े हादसे का इंतजार करते रहती है। स्थानीय समाचारो के माध्यम से कई बार समाचार प्रकाशन कर पुलिस प्रशासन को अवगत भी कराया गया परन्तु पुलिस के कानों में जू तक नही रेंगता। शांति समिति के बैठको में गणमान्य नागरिकों और पत्रकारों द्वारा यातायात कानून ब्यवस्था को लेकर हर बैठको में प्रमुख्यता से अपनी बात रखी जाती है और सुझाव भी दिए जाते है परंतु कागजी कोरम पूरा कर यातायात दुरूस्त ब्यवस्था की चर्चा पर कार्यवाही बैठक तक ही सीमित कर दिया जाता है।

बेखौफ दौड़ रही है ओव्हर लोडिंग ट्रक डम्फर

भार छमता से दो गुना अधिक माल लेकर ट्रक डम्फर माल बाहन ओव्हर लोड माल लेकर रोजाना सैकड़ो गाड़िया झूलते झांलते राजेन्द्रग्राम से अनूपपुर तक का सफर तय कर रही है बे खौफ दौड़ रही है जो आये दिन कोई न कोई अप्रिय हादसे को अंजाम दे रही है छमता से अधिक भार होने के कारण अनियंत्रित होकर दुर्घटना ग्रसित हो जाती है परंतु पुलिस प्रशासन से अभयदान एवं टोकन मनी प्राप्त होने के कारण निः संकोच तेज रफ्तार से सड़क पर दौडा रहे है जिन पर अंकुश लगा पाना प्रशासन के लिए कोई चुनौती से कम नही है ओव्हर लोडिंग के कारण ऊपर तक लबालब भरा हुआ गिट्टी पत्थर जो मेंन रोड या किरर घाट पर गिरा पड़ा रहता है जिससे अनजाने में अचानक मोड़ पर आ जाने पर ना जाने कितने बाहन दुर्घटना ग्रसित हो रहे है जिसका जिम्मेदार कौन है।

स्टंटबाजो और बाइक रेशरो पर नही कोई लगाम

मेन बाजार से कालेज तिराहा तक भीड़ भाड़ जगहों पर 100 की स्पीड पर बाइक रेश कर स्टंट मारते हुये रोजाना बे खौफ दौड़ रही है जिससे ना जाने कितनी घटनाएं घट चुकी होगी जिन्हें चिन्हित कर पुलिस क्यो कठोर कार्यवाही नही करती उन्हें क्यो नही पढ़ाया जाता यातायात के पाठ जो स्टंट बाजी के चक्कर मे बेगुनाहो की जान ले लेते है आखिर उन्हें क्यो नजर अंदाज कर दिया जाता है

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |