# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

छोटी गाड़ी पर कार्यवाही बड़े वाहनो को अभयदान ( आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

 जिले मे सैकड़ो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत पहुंच मार्ग बनाये गये है। इन सड़क मार्गो मे नौ टन तक की पासिंग के भी नियम है। किन्तु दस से लेकर सोलह चके के भारी वाहन इन सड़कों पर बेरोकटोक आवागमन करते है। जिससे सुदूर अंचल तक बनाये गये ये पहुंच मार्ग अपनी तय सीमा से पहले ही टूट कर उबड़ खाबड़ सड़को मे तबदील हो जाते है। जहां एक ओर सरकार की मनसा मे पानी फिर रहा है वहीं दूसरी तरफ ग्रामीणों को आवागमन मे भारी परेशानियों का सामना करना पडता़ है। आरटीओ व पुलिस विभाग छोटी गाड़ियों पर कार्यवाही कर अपनी ही पीठ थपथपा लेते है किन्तु बड़ी गाड़ियों और उनके मालिकों को इन विभागों से अभयदान प्राप्त है तभी तो अब तक की गई कार्यवाहियों मे यदि बारीकी से नजर डाली जाये तब सायद ही कोई कार्यवाही इन प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनी सड़कों पर नौ टन से ज्यादा परिवहन करते हुये कोई कार्यवाही की गई होगी।

स्टार टाइम्स। जानकारों की माने तो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई गई सड़कों मे किसी भी सूरत मे भारी वाहन का प्रवेश नही कराया जा सकता वजह साफ है कि ये बनाई गई ये सड़के ग्रामीण अंचल के लोगो को शहर से जोड़ने के लिये है उनके द्वारा उपयोग मे लाये जाने वाले वाहन ट्रैक्टर, जीप, बैल गाड़ी, मोटर सायकल, सायकल आदि को ध्यान मे रखकर बनाई जाती है। इन सभी वाहनों का कुल वजन नौ टन से कम होता है और इन वाहनों के चलने से सड़क मे टूट फूट की संभावना कम होती है इन सड़कों को बनाने मे पहले सेंथेटिक रोड रोलर का इस्तेमाल किया जाता था। जिसका खुद का वजन दस टन के आस पास ही होता है। ऐसे मे बनाई गई सड़के उस वजन से ज्यादा का परिवहन होने से टूट जाती है।

भारी वाहन के परिवहन पर नही है लगाम

Post 2

अनुपपुर जिले के चारो जनपद मे खनिज संपदा भरी पड़ी है इन संपदाओं का बेहिसाब दोहन और परिवहन करने वाले कारोबारी सीघ्र पैसा कमाने की लालच मे नियमों को धता बताने से बाज नही आते बची कुची कसर इन कारोबारियों से रिस्वत की मलाई छानने वाले कुछ अफसर पूरी कर देते है। इसी लिये तो प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क पर बेखौफ चल रहे भारी वाहनो पर की गई कार्यवाही नागण्य है वहीं दूसरी तरफ टैक्सी आटो आदि से जीवन यापन करने वाले छोटे कारोबारियों पर प्रायः हर रोज कार्यवाही कर अपनी पीठ थपथपा ली जाती है।

परिवहन एवं पुलिस विभाग कार्यवाही पर नही दिखाता रुचि

कहने को तो जिले मे पुलिस चौकी, थाना, चेक पोस्ट, एसडीओपी कार्यालय खुले हुये है और इनका संचालन भी बकायदा हर रोज किया जाता है वहीं इन्ही कार्यालयों के सामने से ये ओव्हर लोड वाहन बेखौफ होेकर आवाजाही करते है ऐसा नही है कि इस प्रशासनिक अमले को ज्ञात नही होता कि भारी वाहन कहां से कहां चल रहे है पर इन वाहन मालिकों से मिलने वाली मलाई रुपी अवैध वसूली के पैसे कार्यवाही करने से इन अमलों को रोक देता है। और अंततः खामियाजा ग्रामीण और उसके परिजनों को गढ्ढे रुपी सड़कों के रुप मे उठाना पड़ता है।

अभियान चलाकर कार्यवाही किये जाने की आवश्यकता

यदि प्रधानमंत्री ग्रामींण सड़क के तहत बनाई गई सड़कों को ग्रामीणों लिये दीर्घ अवधी तक के लिये चलाना है तब इन पर भारी वाहन एवं ओव्हर लोड वाहनों पर मुहिम चलाकर कार्यावाही किये जाने की आवश्यकता है। इसके लिये परिवहन विभाग यातायात विभाग एवं पुलिस विभाग को सम्मिलित रुप से भारी वाहनों को इन मार्गो से हर हालत मे परिवहन करने से रोकना पड़ेगा यदि ऐसा नही किया गया तो वह दिन दूर नही जब उक्त योजना के तहत बनाई गई सड़के गढ्ढों मे पूर्णतः तबदील हो चुकी होगी।

इनका कहना है

तय सीमा से ज्यादा का परिवहन इन मार्गो से नही किया जा सकता। यदि कोई भारी वाहन इन सड़को मे चलाता है तब जानकारी दिये जाने पर परिवहन विभाग कार्यवाही जरुर करेगा।
जिला परिवहन अधिकारी
लालता प्रसाद सोनवानी

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

नौकरशाहों द्वारा मौलिक अधिकारों का हनन कलेक्टर को सौपा ज्ञापन     |     जांच के बाद भी नहीं हुई कार्यवाही जांच समिति द्वारा 7. 82 लाख की निकाली गई थी वसूली (रमेश तिवारी की रिपोर्ट)     |     जल संसाधन विभाग की 3 करोड 11 लाख की नहर छतिग्रस्त, टूटी नहर से कैसे पहुंचे खेतों में पानी किसान परेशान{रमेश तिवारी की रिपोर्ट}     |     खंडहर से उजाला…. गरीबों का मजाक तो नही…??@अनिल दुबे9424776498     |     एसडीएम की बात बीएमओ के कान का जूं……..@अनिल दुबे9424776498     |     खनन निगम रीवा द्वारा की गई जांच परसेल कला एवं हर्रा टोला क्रेशर की जांच मामला लीज से अधिक भूभाग पर उत्खनन का (रमेश तिवारी की रिपोर्ट)     |     सतर्कता ही हमारी पहचान कोरोना का खतरा अभी टला नही है, लखन रजक@अनिल दुबे9424776498     |     नोंनघटी मोड़ में बाइक सवार की टैक्टर से हुई भिड़ंत@अनिल दुबे 9424776498     |     हृदय विदारक घटना में 3 जिन्दा जले 1 फांसी पर झूला 1 की हालत नाजुक     |     अमरकंटक मे अवैध सट्टे को लेकर अमरकंटक वासियों ने हिमाद्रि सिंह को सौंपा ज्ञापन@अनिल दुबे9424776498     |