# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

आसमान में उतारेगी सबसे घातक सुसाइड ड्रोन

Post 1
 
दुनिया की सबसे घातक राइफल एके 47 बनाने वाली कंपनी अब सुसाइड ड्रोन को पेश करने वाली है। कंपनी को उम्‍मीद है कि यह ड्रोन की परिभाषा ही बदल देगा,,,

नई दिल्‍ली । 

पूरी दुनिया में तहलका मचाने वाली AK-47 को बनाने वाली कंपनी क्‍लाशिनकोव अब आसमान में भी बेहद खास करने वाली है। अपनी घातक असाल्ट राइफल्‍स के बाद अब यह कंपनी सुसाइड ड्रोन की हकीकत को जमीन पर उतार रही है। इसकी पहली झलक अबुधाबी में लगे डिफेंस एग्‍जीबीशन में दिखाई दी। आपको बता दें कि अबु धाबी में हर दो वर्ष में दुनिया की बड़ी हथियार कंपनियां अपने हथियारों को पेश करती हैं। इस बार यहां आने वाले क्‍लाशिनकोव के ड्रोन की धूम भी साफतौर पर दिखाई दे रही है। कंपनी का कहना है कि यह युद्ध के मायने बदलने में सहायक साबित होगा और जिस तरह से AK-47 को दुनिया के सभी देशों में तरजीह मिली है वैसे ही इसको भी कामयाबी मिलेगी। आपको यहां पर ये भी बता दें कि AK-47 दुनिया के उन चुनिंदा बेहद घातक हथियारों में से एक है जिसका लोहा आज भी माना जाता है। कई देशों की सेनाओं की पहली पसंद आज भी AK-47 बनी हुई है। इसको वेपन डिजाइनर के तौर पर करियर शुरू करने वाले मिखाइल क्‍लाशिनकोव ने बनाया था।

अब कंपनी अपने सुसाइड ड्रोन को लेकर काफी उत्‍साहित है। कंपनी ने इसको KUB-UAV नाम दिया है। कंपनी का तो यहां तक कहना है कि यह ड्रोन इस क्षेत्र में लड़ाई की तकनीक को बदलकर कर रख देगा। यह न सिर्फ दूसरे ड्रोन विमानों से सस्‍ता होगा बल्कि यह हैंडल करने में भी बेहद आसान होगा। यूं तो इस मेले में टैंक, आर्मर्ड व्‍हीकल और फाइटर जेट तक मौजूद हैं लेकिन इसके बाद भी सभी की निगाह इस ड्रोन पर जाकर ठहर रही है।

कंपनी को उम्‍मीद है कि एके 47 की ही तरह ही यह दुनिया की पसंद बन जाएगा। आपको बता दें कि सीरिया और अफगानिस्‍तान में मौजूद अपने सहयोगियों के लिए अमेरिका ने हाल ही में भारी मात्रा में इन राइफल्‍स को खरीदा है। यह अमेरिका में बनी असाल्‍ट राइफल्‍स से अधिक सस्‍ती है।

रूस की हथियार बनाने वाली कंपनी रोस्‍टेक के चेयरमेन सर्गी शेमजॉव के मुताबिक क्‍लाशिनकोव ड्रोन ऑपरेट करने में आसान है और कारगर होने के साथ-साथ काफी सस्‍ता भी है। यह करीब चार फीट चौड़ा है। यह 80 mph की रफ्तार से करीब 30 मिनट तक उड़ सकता है। यह अपने साथ छह पाउंड एक्‍सप्‍लोसिव ले जा सकता है। इसके साइज की बात करें तो यह करीब कॉफी टेबल के आकार का है। कंपनी के मुताबिक यह किसी क्रूज मिसाइल की ही तरह है जिसमें ट्रागेट की जानाकारी फीड कर लॉन्‍च किया जाता है।

इस ड्रोन को चालीस मील दूर मौजूद दुश्‍मन पर टार्गेट कर छोड़ा जा सकता है। अमेरिकी प्रोफेसर निकोलस ग्रॉसमन ने भी इस ड्रोन की काफी तारीफ की है। जानकारों की राय में यह ड्रोन एक बेहतर क्रूड होममेड डिवाइस है जिसका आने वाले समय में महत्‍व खास हो जाएगा। हालांकि इसकी कीमत को लेकर कोई खुलासा अभी तक नहीं किया गया है। यह उन देशों को देखते हुए बनाया गया है जहां पर छोटी फौज है।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |