# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

दुर्घटना के बाद जागा परिवहन विभाग कर रहा दिखावे की कार्यवाही,(आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

इन्ट्रो- जर्जर बसों की परमिट जारी करने वाला परिवहन विभाग बीते दिन खाई मे गिरी खस्ताहाल बस के दुर्घटना ग्रस्त होते ही नींद से जागकर दिखावे के लिये कार्यवाही को अंजाम देने पहुंचा और दो बसो पर परमिट नही होने की कार्यवाही करते हुये 1,45,800 रुपये का जुर्माना लगाया। यह कार्यवाही किरर घाट मे नफीस ट्रेवल्स की बस क्रमांक एमपी 54-0191 के दुर्घटना ग्रस्त होने के दो घंटे बाद की गई है। जिसे दुर्घटना ग्रस्त बस से ध्यान हटाने के लिये की गई कार्यवाही कहा जा सकता है। यह परिवहन विभाग के चाल चलन और उसके रवैया की प्रमाणिकता मात्र है। वर्ना ऐसी खटारा बसों को फिटनेस जारी ही नही किया जा सकता।

अनूपपुर।

बीते दिन परिवहन विभाग दो बातों को लेकर सुर्खियों मे रहा पहला अमरकंटक से षहडोल की तरफ जा रही बस क्रमांक एमपी 54-0191 किरर घाट स्थित मिडवे ट्रीट के समीप मोड़ पर दुर्घटना ग्रस्त हो गई। दुर्घटना पष्चात बस के परखच्चे उड़ गये और देर रात इलाजरत गंभीर रुप से घायल एक युवती की जान चली गई। बस क्रमांक एमपी 54-0191 जर्जर हालत मे भी यात्रीयों के परिवहन का कार्य करती रही है इस बस का फिटनेस जारी कर्ता अधिकारी आखिर किस मापदंड के अनुसार इसे परिवहन योग्य समझ परमिट जारी किया है। दूसरा मामला जो सुर्खियों मे रहा वह दुर्घटना मे पर्दा डालने के लिये देर षाम की गई कार्यवाही का है। जिला परिवहन अधिकारी एलआर सोनवानी द्वारा हिन्दुस्तान पाॅवर मे लगी बस क्रमांक एमपी 65 पी 0164 पर 81,800 रुपये व बस क्रमांक टीएन 69 एएच 2350 पर 65,000 रुपये का जुर्माना परमिट नही होने की वजह से करने का है।

Post 2

पहले ही जताया था घटना का अंदेशा

समाचार पत्रों माध्यम से पहले ही अंदेशा परिवहन विभाग की कार्यप्रणाली पर जताया जा चुका है कहा गया था कि अधिकांष बसे जर्जर हालत मे यात्रियों की जिंदगी के साथ खेल रही है। जवाबदार महकमा न जाने इन्हे कैसे परमिट फिटनेश प्रदूषण आदि का प्रमाण पत्र जारी कर देता है यदि सही मायने मे अपने कर्तव्य परायणता के अनुरुप कार्य किया जाये तब ऐसी घटनाओ को होने से पूर्व ही रोका जा सकता है और कई जिन्दगियाँ बचाई जा सकती है। जिले मे सैक्ड़ो की तादाद मे ये जर्जर हालत की बसे फर्राटे से दौड़ती दिखाई देती है पर इन पर कार्यवाही का न होना समझ के परे बना हुआ है।

प्राथमिक उपचार पेटी रहती है नदारत

जिले मे अधिकांष संचालित बसों में प्राथमिक उपचार पेटी नदारत रहती हंै। जबकि परिवहन विभाग के नियमानुसार इसका होना आवष्यक है कल घटित घटना क्रम मे जिस बस मे 22 लोग यात्रा कर रहे थे वह सिर्फ जर्जर ही नही प्राथमिक उपचार पेटी के बगैर फर्राटे मार रही थी जिससे दुर्घटना पष्चात लोगो को प्राथमिक उपचार नही मिल सका और इसकी कीमत उन्हे जान देकर तक चुकानी पड़ी है यह लापरवाही परिवहन विभाग के सह के बिना किया जाना असंभव है।

दुर्घटना पष्चात फरार हुआ परिचालक दस्ता

बीते दिन मे हुई दुर्घटना प्ष्चात परिचालक दस्ता फरार हो गया बस मे सवार यात्रियों ने बताया कि दुर्घटना से पूर्व ही ड्राईवर बस को खाई मे जाते देख कूदकर भाग गया था। यानि की जिस ड्राईवर पर बस मे सवार 22 लोगो की जिंदगी को बचाने गंतब्य तक पहुंचाने की जिम्मेवारी थी वह नाजुक हालत देख भाग गया। ऐसा वही कर सकते है जिनके अंदर कर्तव्यों को निरवहन करने की षक्ति नही होती और ये वो लोग है जो बिना बैच नं. के बसों का परिचालन करते है।

क्या है परिचालन के नियम

बस परिचालन कर्ता के पास बस चलाने हेतु बैच नं का होना आवश्यक है और सवारी बसों मे प्राथमिक उपचार पेटी होनी चाहिये परिचालक के अतिरिक्त दो कर्मचारी सवारी बसों मे होना आवष्यक होता है साथ ही हुई ऐसी दुर्घटनाओं मे बस मालिकों द्वारा घायलों को तात्कालिक इलाज हेतु पैसों की व्यवस्था करानी होती है। ये सभी कार्य परिवहन विभाग के अधीन होते है जिले की लचर परिवहन व्यवस्था को यदि जल्द ही दुरुस्त नही किया गया तो न जाने कितनों को आकाल के गाल मे समाना पड़ेगा।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |