# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

शहडोल बीजेपी काँग्रेस दलबदलू प्रत्याशियों के हवाले (आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

इन्ट्रो- जहां कांग्रेस प्रत्यासी प्रमिला सिंह भारतीय जनता पार्टी की टिकट से वर्ष २०१३ में जयसिंह नगर विधायक चुनी गई थी वहीं बीजेपी प्रत्यासी हिमाद्री सिंह 2016 मे कांग्रेस की टिकट से लोकसभा का चुनाव लड़ चुकी है। दोनो ही प्रत्यासियों पर दल बदल का आरोप प्रत्यारोप लग सकता है वहीं चंद दिनो पूूर्व जिस पार्टी के खिलाफ बोलते हुये मतदाताओं को रिझााने का प्रयास किया गया था। अब उन्ही मतदाताओं के सामने उसी पार्टी का गुणगान कर बोट मांगे जायेगे।

शहडोल ।
दावेदारों की घोषणा कर दोनो प्रमुख्य पार्टियां आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी मे जुट गई है। जहां एक ओर भारतीय जनता पार्टी ने अपने सांसद ज्ञान सिंह की टिकट काटकर हिमाद्री सिंह को चुनावी समर मे उतारा है वहीं कांग्रेस पार्टी ने विधायक रह चुकी प्रमिला सिंह पर दांव खेला है। आगे क्या होता है यह तो मतदाताओं द्वारा किये गये मतदान का परिणाम आने पर ही पता चलेगा। लेकिन वर्तमान रातनीतिक परिदृष्य मे दोनो ही दल के प्रत्यासियों पर दल बदल का ठप्पा लगा हुआ है।

पार्टी, प्रत्यासी और चुनावी समर

Post 2

भारतीय जनता पार्टी ने शहडोल संसदीय क्षेत्र मे पहल करते हुये अपने उमीदवार के रुप मे हिमाद्री सिंह को चुनावी समर मे उतारा है। ज्ञात हो कि हिमाद्री सिंह को उमीदवार बनाने के लिये वर्तमान सांसद ज्ञान सिंह की टिकट काटी गई है। ये वही ज्ञान सिंह है जिन्होने 2016 के लोकसभा उप चुनाव मे तब कांग्रेस से प्रत्यासी रही इन्ही हिमाद्री सिंह को हराया था। हिमाद्री सिंह भारतीय जनता पार्टी से बतौर उमीदवार घोषित हुई है उन्होने चंद दिनों पूर्व ही कांग्रेस को अलविदा कहते हुये बीजेपी का दामन थामा है। दूसरी तरफ कांग्रेस से प्रत्यासी बनाई गई प्रमिला सिंह 2013 से 2018 तक भारतीय जनता पार्टी की टिकट से जयसिंह नगर की विधायक रह चुकी है इन्होने भी विगत वर्ष विधान सभा चुनाव के समय टिकट कटते ही भारतीय जनता पार्टी छोड़ कांग्रेस का दामन थामा है।

कसमोकस मे मतदाता

दोनो ही पार्टियों ने जिन प्रत्यासिंयों को मैदान मे उतारा है दोनो ही पूर्व मे विपक्ष की पार्टी के कद्दावर नेत्री रह चुकी है तब इन्होने वर्तमान पार्टी जिनकी उमीदवारी कर रही है उन पर जमकर जुबानी हमला किया था। अब नई पार्टी का हिस्सा बन अपने द्वारा किये गये हमले को आखिर कैसे नकारेगे वहीं दूसरी तरफ मतदाता कसमोकस की स्थिति मे दिखाई दे रहा है वजह साफ है कि जिन्हे राजनीतिक परिदृष्य मे प्रतिद्वन्दी के रुप मे देखता आया है अब उन्हे ही अपना नेता कह स्वीकारने मे परेषानी हो सकती है कमोबेस यह स्थिति दोनो ही प्रमुख दलों के प्रत्यासियों के साथ बनी हुई है।

कार्यकर्ताओं मे है भारी असंतोष

जमीनी स्तर पर कार्य करने वाले किसी भी पार्टी के कार्यकर्ता उसकी स्थाई स्तंभ होते है। यही कार्यकर्ता षहडोल संसदीय क्षेत्र मे प्रत्यासियों के घोषणा के साथ ही अपने आप को उपेक्षित महसूस कर रहे है। इनसे रायसुमारी के दौरान जो बात कही गई थी उसके उलट चंद दिनो पहले पार्टी का हिस्सा बने लोगो को प्रत्यासी बना दिया गया है ऐसे मे उपेक्षित महसूस करना लाजमी है। यह असंतोष को जल्द ही नही दूर किया गया तब कर्मठ कार्यकर्ताओं के लाले दोनो ही पार्टियों को पड़ जायेगे। और काफी हद तक इससे चुनाव परिणामों मे प्रभाव पडे़गा। बहरहाल नामांकन से पहले और नामांकन के बाद प्रत्यासियों समेत पार्टी की स्थिति मे बदलाव अक्सर होता आया है। किन्तु कार्यकर्ताओं मे पनप रहे असंतोष की खाई को जल्द ही दूर करना दोनो ही दलों की प्रमुखता होगी।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |