# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो 28% टैक्स के साथ वैट भी वसूल सकते हैं राज्य

Post 1

अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो 28% टैक्स के साथ वैट भी वसूल सकते हैं राज्य

अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो 28% टैक्स के साथ वैट भी वसूल सकते हैं राज्य

– पेट्रोल पर केंद्र सरकार 19.48 रुपए और डीजल पर 15.33 रुपए/लीटर एक्साइज ड्यूटी लगाती है
– पेट्रोल पर कुल 45% से 50% और डीजल पर 35% से 40% टैक्स वसूला जा रहा है

– जीएसटी के साथ 27% वैट भी लग जाए तो दिल्ली में 11 रुपए सस्ता हो सकता है पेट्रोल

नई दिल्ली. सरकार ने संकेत दिए हैं कि अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो 28% टैक्स स्लैब के साथ राज्य इस पर लोकल सेल्स टैक्स या वैट भी लगा सकते हैं। पेट्रोल-डीजल पर नया कर ढांचा भी मौजूदा व्यवस्था की तरह ही होगा, जिसमें केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी और राज्य सरकारें वैट लगाती हैं।
सरकार के एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि पेट्रोल और डीजल पर दुनिया में कहीं भी प्योर जीएसटी नहीं लगता। भारत में भी यह जीएसटी और वैट का कॉम्बिनेशन ही होगा। पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी में शामिल करने की टाइमिंग राजनीतिक तौर पर अहम होगी, जिसका फैसला केंद्र और राज्यों दोनों को मिलकर लेना होगा।

जीएसटी और वैट, दोनों क्यों लगेगा : अधिकारी ने बताया कि केंद्र के पास राज्यों के राजस्व नुकसान की भरपाई करने के लिए फंड नहीं है। लिहाजा, पेट्रोल-डीजल के मामले में रास्ता यही है कि जीएसटी का 28% का पीक रेट लगाया जाए और इसके साथ ही राज्यों को भी वैट लगाने दिया जाए। इस प्रक्रिया में इस बात का ध्यान जरूर रखा जाएगा कि जीएसटी और वैट लगने के बाद उपभोक्ताओं के लिए पेट्रोल-डीजल के रेट मौजूदा दरों से ज्यादा न हो जाएं।

अभी : 76.27 रुपए के पेट्रोल में 46% टैक्स
रिफाइनिंग के बाद डीलर को बेचे गए पेट्रोल की कीमत
: 36.96 रुपए प्रति लीटर
डीलर कमीशन : 3.62 रुपए
एक्साइज ड्यूटी : 19.48 रुपए
दिल्ली में 27% वैट : 16.21 रुपए
कुल टैक्स (एक्साइज+वैट) : 35.69 रुपए
आम लोगों को मिलने वाले पेट्रोल का रेट: 76.27 रुपए
(आंकड़े दिल्ली के और 20 जून की स्थिति के मुताबिक)

अगर जीएसटी और वैट लगा, तब भी दिल्ली में 11 रुपए तक सस्ता हो सकता है पेट्रोल
रिफाइनिंग के बाद डीलर को बेचे गए पेट्रोल की कीमत
: 36.96 रुपए प्रति लीटर
डीलर कमीशन : 3.62 रुपए
28% का अधिकतम जीएसटी : 10.34 रुपए
दिल्ली में 27% वैट : 13.74 रुपए
कुल टैक्स (जीएसटी+वैट) : 24.08 रुपए
इस स्थिति में आम लोगों को मिलने वाले पेट्रोल का रेट : 64.66 रुपए

अगर सिर्फ जीएसटी लगाया जाए और वैट न लगे तो पेट्रोल का रेट : 50.92 रुपए

पेट्रोल पर 19.48 रुपए/लीटर एक्साइज वसूलता है केंद्र : केंद्र सरकार अभी पेट्रोल पर 19.48 रुपए और डीजल पर 15.33 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी वसूलती है। मुंबई में पेट्रोल पर सबसे ज्यादा 39.12% वैट वसूला जाता है, जबकि तेलंगाना में डीजल पर सबसे ज्यादा 26% वैट वसूला जाता है। दिल्ली पेट्रोल पर 27% और डीजल पर 17.24% वैट वसूलता है। इस प्रकार पेट्रोल पर कुल 45% से 50% और डीजल पर 35% से 40% टैक्स वसूला जाता है। राज्यों द्वारा वसूले जाने वाले वैट के मामले में अंडमान निकोबार द्वीप समूह सबसे पीछे है, जहां दोनों फ्यूल्स पर 6% सेल्स टैक्स वसूला जाता है।

जीएसटी के बाद खास नहीं बदलीं कीमतें : सरकार का मानना है कि पेट्रोल और डीजल पर मौजूदा टैक्स पहले ही पीक रेट से ज्यादा हो चुका है। अगर नई व्यवस्था में जीएसटी 28% से कम रहेगा और वैट नहीं लगेगा तो इससे केंद्र और राज्यों दोनों को भारी नुकसान होगा। 2014-15 में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज से केंद्र सरकार को 99,184 करोड़ रुपए की कमाई हुई थी। 2017-18 में यह कमाई बढ़कर 2,29,019 करोड़ रुपए हो गई।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |