# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

चल रही आस्था के नाम पर लूट (मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट)

Post 1

मामला पवित्र नगरी अमरकंटक नर्मदा मंदिर का…

अमरकंटक।

मैकल सुता के नाम से मसहूर देष की चैथी बड़ी नदी नर्मदा और उसकी उद्गम स्थली अमरकंटक जिसे पवित्र नगरी का दर्जा प्राप्त है। यह क्षेत्र आस्था और विस्वास का वर्षो से केन्द्र बना हुआ है। यहां दूर दराज से आये श्रद्धालू, भक्तगण पवित्र नदी मां नर्मदा मे आस्था की डुबकी लगा खुद को खुसनसीब मानते है। नर्मदा मंदिर मे वैसे तो परिक्रमा वासियों का आना जाना प्रायः हर रोज लगा रहता है। साथ ही दूर दराज से श्रद्धालू भी यहां नित रोज पहुंचते है। यह क्षेत्र पर्यटन के हिसाब से भी महत्वपूर्ण स्थान रखता है चारो तरफ घने जंगल लोगो को मंत्र मुग्ध करते है। कपिल धारा, सोन मूड़ा, माई की बगिया, जलेष्वर, चक्र घाट जैसे स्थान हिन्दु धर्म की आस्था के केन्द्र के साथ मनमोहक स्थान के रुप मे जाने जाते है। यहां स्थित मुख्य मंदिर मां नर्मदा मे पुजारियों द्वारा पूजा पाठ के आड़ मे अवैध रुप से पैसा वसूले जाने का मामला प्रकाष मे आया है।

Post 2

नर्मदा उदगम ट्रस्ट को हो रहा लाखों का नुकसान

अमरकंटक नर्मदा मंदिर नगर परिषद क्षेत्र मे आता है। किन्तु मंदिर प्रांगण के लिये अलग से ट्रस्ट बनाया गया है। इस ट्रस्ट को नर्मदा उद्गम ट्रस्ट के नाम से जाना जाता है। यहां नगर परिषद का हस्ताक्षेप नागण्य है। ट्रस्ट द्वारा हर प्रकार की पूजा अर्चना के लिये श्रद्धालुओं से ली जाने वाली राषि तय की गई है। किन्तु कुछ पुजारियों की मनमानी नियमों को धता बताते हुये इस कदर बढ़ी हुई है कि नर्मदा मंदिर मे आस्था के साथ आने वाले भक्तों को ठगा जा रहा है। पूजा पाठ की रषीद दिये बिना ही गुमराह कर मनमानी पैसा श्रद्धालुओं से हड़प लिया जाता है। कहने को तो ये पुजारी लोभ, भय, काम, क्रोध का संदेष देते है। पर खुद पूजा पाठ के नाम पर लूट करने से बाज नही आते।

वाहन पूजा हेतु नही है पार्किंग

अमरकंटक के नर्मदा उदगम मंदिर मे आये दिन नये वाहन खरीदने वाले पूजा के लिये आते हैं। प्रायः हर रोज यहां दर्जनो वाहन मालिक नर्मदा जल से वाहन की पूजा करा वाहन का उपयोग करते है। किन्तु यहां पहुंचने वाले वाहन मालिको को वाहन खड़े करने तक की जगह नषीब नही होती। जिसकी वजह से सड़को मे यहां वहां वाहन खड़े कर दिये जाते है जिससे सुचारु यातायात मे समस्या खड़ी होती है वहीं आये दिन जाम की स्थिति से नगर वासियों को दो चार होना पड़ता है। दूसरी तरफ इन वाहनों के पूजा के नाम पर कुछ पुजारियों द्वारा लूट मचाई जाती है। ट्रस्ट द्वारा तय राषि न लेकर मनमाफिक पैसे इन नये वाहन मालिको से आस्था के नाम पर मांगे जाते है। बेबस और श्रद्धा से आये लोग पुजारियों की इस लूट के सामने अपने आप को ठगा महसूस करते है।

नियमों की अनदेखी कर पुजारियों द्वारा रेट लिस्ट का मजाक बनाया जा रहा है

अमरकंटक मे नर्मदा उदगम स्थली मे श्री नर्मदा मंदिर (नर्मदा उदगम ट्रस्ट) अमरकंटक जिला अनूपपुर म.प्र. के द्वारा सभी प्रकार की पूजा अर्चना के लिये षुल्क निर्धारित कर चस्पा किया गया है। और इसके माध्यम से भुगतान हेतु पुष्पराजगढ़ एसडीएम बालागुरु के ने बकायदा मषीन की व्यवस्था की गई है लेकिन यह कुछ पुजारियों की नजर मे महज दिखावा बनकर रह गई है। मंदिर प्रांगण मे नर्मदा विग्रह पूजन 101 रुपये 151, अन्न क्षेत्र के लिये दाल 51 रुपये से लेकर श्रद्धानुसार, रुद्राभिषेक 151, 251, 551 रुपये, गीला प्रसाद 10, 11, 21, 51, 101 रुपये, सूखा प्रसाद 21 व 51 रुपये, संकल्प दान 11, 21 व 51 रुपये, व्रतबंध 501 रुपये, विवाह संस्कार 1100 रुपये, सत्यनारायण कथा 51 य उससे अधिक स्वेच्छानुसार, हाथा लगाना 51 रुपये, कन्या भोजन 51 रुपये प्रति कन्या, दो पहिया वाहन पूजन 151 रुपये, चार पहिया वाहन पूजन 251 रुपये, नवरात्रि पूजन दीप प्रज्वलित 2100 रुपये प्रति ज्योति कलष, झालर मुण्डन 50 रुपये का षुल्क निर्धारित किया गया है। किन्तु यह षुल्क महज दिखावा है यहां इन षुल्को के आधार से पैसे नही लिये जाते पैसे लेने के लिये पुजारी अपनी मनमर्जी का इस्तेमाल कर करता है। और न ही लिये गये पैसे ट्रस्ट के खाते मे जमा कराये जाते है।

इनका कहना है
यह बात मेरे संज्ञान मे है इस विषय पर मेरी उच्च पुजारी से बात की गई है। उनके द्वारा कहा गया कि जो राषि हम लेते है वह हमे दक्षिणा के रुप मे प्राप्त होती है। इसमे नगर परिषद की कोई भूमिका नही है।

नगर परिषद उपाध्यक्ष अमरकंटक
दादू महाराज

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |