पुलिस ने बताया कि गांव के पास बड़े भस्कानाला में डैम बना हुआ है. इसमें नहाने के लिए तीन बालिकाएं सरस्वती, चमेली और रामबाई (9) गई हुई थीं. इस दौरान सरस्वती और चमेली गहरे पानी में पहुंच गईं और दोनों डूब गईं. वहां मौजूद रामबाई ने जब देखा कि सरस्वती और चमेली डूब रही हैं तो बचाव के लिए आवाज लगाई. जब कोई मदद के लिए नहीं पहुंचा तो रामबाई दौड़कर घर गई और परिजन को घटना की जानकारी दी. जब परिजन पहुंचे तो दोनों बालिकाओं के शव पानी में तैर रहे थे.