# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

10 वर्षों बाद क्या टूटेगा तिलिस्म (आसुतोष सिंह की रिपोर्ट)

Post 1

चुनाव में कांग्रेस विधायकों की साख लगी दाव पर…

शहडोल।
उन्नीसवीं लोकसभा के चुनाव अभियान में शहडोल संसदीय क्षेत्र में कई सारे मिथक टूटने वाले हैं। तो एक सबसे बड़ा मिथक 1999 के चुनाव को छोड़कर लगातार बना रहा वह कि पुष्पराजगढ़ विधानसभा से कांग्रेस पार्टी ने हमेशा लीड की है। यहां बताना आवश्यक होगा कि 1999 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने दलवीर सिंह का टिकट काटकर अजीत जोगी को प्रत्याशी बनाया था, तभी भाजपा को पुष्पराजगढ़ से बढ़त मिली थी। राजनीति में यह कहना अतिसंयोक्ति नहीं होगा कि कांग्रेस नेताओं ने ही भाजपा का काम उस दौरान किया था। उसके बाद 2004 के लोकसभा चुनाव में फिर कांग्रेस ने अपने गढ़ में बढ़त बनाई। उसके बाद से 2009, 2014 व 2016 के उप चुनाव में लगातार कांग्रेस पुष्पराजगढ़ से बढ़त बनाए आ रही है। इस बार कांग्रेस के इस मिथक को क्या भाजपा हिमाद्री सिंह को सामने कर तोड़ पाएगी या फिर कांग्रेस अपने गढ़ को बचाये रखेगी।

दांव पर विधायकों की साख

Post 2

अनूपपुर जिले की विधानसभा कोतमा, अनूपपुर, पुष्पराजगढ़ तीनों में कांग्रेस के विधायक है और तीनों विधायक अच्छे खासे मतों से जीते हैं। तीनों के मतों का योग किया जाए तो यहां से कांग्रेस को लगभग 44 हजार 391 मत की बढ़त मिलने चाहिए। ऐसे में कांग्रेस के तीनों विधायक क्या यह लीड लोकसभा प्रत्याशी को दिला पायेंगे। जबकि मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ लोकसभा प्रत्याशी के पक्ष में जनता से समर्थन मांगने के दौरान अनूपपुर विधायक बिसाहूलाल सिंह ने मंच में भाषण देते हुए कहा है कि हम यहां से आगे होंगे। ऐसे में तीनों विधायकों की साख दाव पर लगी है कि वह अपनी-अपनी विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी को कितनी बढ़त दिलाकर शहडोल लोकसभा में पार्टी का हाथ मजबूत कर पाते हैं।

यहां बढ़त के लिए जद्दोजहद

बीते चार लोकसभा के परिणामों पर गौर किया जाए तो जिले की विधानसभा कोतमा और अनूपपुर में कमोवेश भाजपा को ही बढ़त रही है। इस बार प्रदेश में कांग्रेस की सरकार के साथ यहां विधायक भी कांग्रेस के हैं। ऐसे में दोनों विधानसभाओं में कांग्रेस पार्टी प्रत्याशी के लिए बढ़त बनाने की जद्दोजहद में वह लगे हैं। तो वहीं भाजपा के नेता पिछले चुनाव की अपेक्षा इस बार मतों का ग्राफ और कितना बढ़ाया जा सके, इसको लेकर गांव-गांव, घर-घर दस्तक देने जुट गए हैं।

स्थानीय मुद्दों से दूर है चुनाव

अब तक के प्रचार अभियान में चाहे कांग्रेस हो या भाजपा दोनों ही पार्टी के राष्ट्रीय मुद्दों को लेकर मतदाताओं के बीच चर्चा कर रहे हैं। स्थानीय मुद्दों जिनसे कि हर दिन मतदाताओं को जूझना पड़ता है। उनकी ओर कोई नहीं बोल रहा है। अनूपपुर के मतदाताओं ने पूर्व में सबसे बड़ी मांग सीधे नागपुर तक के लिए ट्रेन चलाने के लिए रखी थी। जिसको लेकर सांसद को बीच सड़क में युवाओं ने घेरा था। वहीं स्वास्थ्य व शिक्षा के साथ किसानों के हित में सिंचाई के संसाधन बढ़ाने की बात भी कोई नहीं कर रहा है। ऐसा लग रहा है यहां स्थानीय मुद्दो से दूर रहकर अपनी नइया प्रत्याशी पार लगाना चाह रहे हैं।

कांग्रेस में है टकराहट

लोकसभा चुनाव प्रचार-प्रसार की शुरुआत में ही कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने आपसी टकराहट दिखाई पड़ी। अनूपपुर में तो जब मुख्यमंत्री पहली सभा करने पहुंचे तभी मंच से अपने आप को विकास पुरुष का तमगा देने वाले ने कई कसीदे पढ़े। वहां बैठी जनता ने सुना है। उनके बाद अनिल कपूर की नायक फिल्म के तर्ज पर उतरे नेता ने रही-कही कसर पूरी कर दी। यहां तो कांग्रेस नेता अपने आप को मुख्यमंत्री के सामने बड़ा दिखाने में लगे हैं। प्रत्याशी अभी अलग-थलग ही दिखाई दे रहे हैं।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |