# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

फर्जी बिल भुगतान कर शासकीय पैसे का हो रहा बंदरबांट ( कोतमा संवाददाता )

Post 1

कोतमा।

अनूपपुर जिले के जनपद पंचायत बदरा अंतर्गत आनेवाले ग्राम पंचायत पडौर में शासकीय पैसे का बंदरबांट करने की नई इबारत लिखी जा रही है। यंहा पदस्थ सरपंच, सचिव रोजगार सहायक सरकार की मंशा पर पानी फेरते दिखाई दे रहे हैं। सरकार भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए चाहे लाख कड़े कानून बना ले किन्तु शासकीय पैसे का बंदरबांट कैसे करना है कोई इनसे सीखे। ज्यादातर ग्राम पंचायतों में सचिव, सरपंच, व रोजगार सहायक शासकीय पैसे का हेराफेरी कर अपनी जेब भरने में जुटे रहते हैं विकास कार्यों का पैसा डकारते समय इन्हें उच्च अधिकारियों का डर नही होता। कारण ऊपर से नीचे तक के कुछ अधिकारी भ्रष्टाचार के इस पूरे खेल में सहभागिता निभाते हैं। सचिव, सरपंच यह भी कहने से नही चूकते है कि यदि हमारी जाँच भी होगी तो हमारे आला अधिकारी ही जांच करेंगे जो पहले ही अपना हिस्सा लिए बैठे है। यही कारण है कि बेधड़क हेराफेरी कर सासन को पलीता लगाया जा रहा है।

ग्राम पंचायत पडौर का मामला

Post 2

जनपद पंचायत बदरा अंतर्गत ग्राम पंचायत पडौर में पदस्थ सचिव शंभू सिंह सरपंच उमाकांत सिंह द्वारा ग्राम पंचायत में आवंटित शासकीय राशि के दुरुपयोग व हेराफेरी करने का एक अलग ही तरीका इजाद कर लिया है। 26 जनवरी 2019 को सचिव सरपंच द्वारा छोहरी ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक राजेश कुमार गुप्ता के पिता की दुकान जो छोहरी में केशरवानी ट्रेडर्स के नाम से संचालित है जहाँ से 60 किलो बूंदी 120 रुपये की दर से 7200 रुपये की, 2 बोरी लाई 400 रुपये की दर से 800 रुपये, नमकीन 9 किलो 140 रुपये की दर से 1200 रुपये, पेन, कॉपी इत्यादि समान कुल बिल 9,940 रुपये का खरीदा गया और में. केशरवानी ट्रेडर्स छोहरी दुकानदार द्वारा जीएसटी बिल न देकर फर्जी बिल बनवा कर ग्राम पंचायत पडौर को थमा दिया गया और सचिव संभु सिंह, सरपंच उमाकांत ने मिलकर शासकीय पैसे का बंदरबांट करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। ऐसा नहीं है कि इसकी भनक जनपद पंचायत सीईओ बदरा को न हो लेकिन सीईओ बदरा भी शासकीय पैसे को मटिया मेट करने वाले भ्रष्टाचारी सचिव, सरपंच पर नकेल कसने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे है। जिससे ज्यादातर जनपद पंचायत बदरा अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायतो में भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा है।

मिल बैठकर मामले को सुलझा लेते है

जब इस संबंध पर ग्राम पंचायत पचोर के सचिव से फोन पर चर्चा करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने फोन उठाना उचित नहीं समझा वहीं ग्राम पंचायत के सरपंच उमाकांत ने फोन पर चर्चा करने के दौरान मीडिया से कहा मामले को मीडिया पर उछालने से आपको क्या मिलेगा आप आइए मिल बैठकर मामले को रफा-दफा कर लेते हैं, विज्ञापन आदि माध्यमों से सहयोग करने के साथ समाचार प्रकाशन ना करने के लिए कहा गया।

रोजगार सहायक छोहरी के बड़बोले बोला

जनपद पंचायत बदरा अंतर्गत ग्राम पंचायत छोहरी के रोजगार सहायक राजेश गुप्ता के पिता की दुकान से बिना जीएसटी नंबर का बिल भुगतान 26 जनवरी 2019 को बूंदी, नमकीन, लाई एवं अन्य सामग्री के संबंध में चर्चा करने का प्रयास किया गया तब उनके द्वारा कहा गया की दुकान पर मैं और मेरे पिताजी ही बैठते हैं पडौर ग्राम पंचायत में दी गई सामग्री के संबंध पर चर्चा की गई तो छोहरी के रोजगार सहायक ने कहा यह सब छोटे मोटे मामले है ज्यादा तूल न दे भ्रष्टाचार के बड़े मामले तो मिडिया उठाती ही नहीं। ऐसा कह कर जनपद के उच्च अधिकारियों को भी कटघरे में खड़ा करने वाले रोजगार सहायक यंही नही रुके उन्होंने बड़े मीडिया कर्मी से अपनी पहचान होने का रौब दिखाते हुए 100-200 ले कर शांत रहने की नसीहत भी दे डाली

इनका कहना है

उपरोक्त संबंध में शिकायत मेरे पास यदि आती है तो मामले की जांच करा पाऊंगा। बिना शिकायत मामले की जाँच मैं कैसे कर सकता हूँ।
अरुण भारद्वाज
सीईओ जनपद पंचायत बदरा

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

बड़ी खबर: राजेन्द्रग्राम पुलिश के हत्थे चढ़े बकरा मुर्गी चोर (अनिल दुबे की खास रिपोर्ट))     |     एक लगाओ अस्सी पाओ के खेल में युवा हो रहे बर्बाद ,कौन खिला रहा है लांघा टोला पटना में सट्टा (अनिल दुबे की खास रिपोर्ट))     |     बधार में होगा दीवाली धमाका, हर्ष खेड़िया फोड़ेंगे बम पत्थर खदानों में लगी हैं ब्लास्टिंग मसीन वीडियो वायरल (अनिल दुबे की रिपोर्ट@9424776498)     |     मध्यप्रदेश की जनता तोड़ेगी कमलनाथ का घमण्ड — शिवराज सिंह चौहान     |     विकास की नयी इबारत लिखने को तैयार बिसाहूलाल — सुदामा सिंह     |     चुनावी सरगर्मी के बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने लिया माँ नर्मदा का आशीर्वाद     |     जिले की बड़ी खबर: सम्मान की जगह…कोरोना योद्धाओं को बाहर करने की तैयारी     |     सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |