# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

महिला के हाथ पर 6 घंटे तक रही इंजेक्शन की टूटी निडिल, ( आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

फिर सामने आयी अस्पताल प्रशासन की लापरवाही 

पुष्पराजगढ़।

सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र पुष्पराजगढ़ मे स्वास्थय लाभ लेने पहुंची जुगन्ती बाई सेन पति सुरेश प्रसाद सेन उम्र 35 वर्ष निवासी राजेन्द्रग्राम के हाथों मे इंजेक्शन लगाने के दौरान निडिल टूट गई। महिला द्वारा इस बात की शिकायत जब अस्पताल प्रशासन से की गई तब मामले को लापरवाही पूर्वक लेते हुये महिला को 6 घंटे तक दर्द से तड़पने के लिये छोंड़ दिया गया। पीडिता अस्पताल अकेले ही ईलाज हेतु पहुंची थी। अस्पताल प्रशासन की इस लापरवाही का खमियाजा जुगन्ती बाई का परिवार भुगतने कोे मजबूर है। वहीं अस्पताल प्रशासन इस पूरे मामले से पल्ला झाड़ रहा है।

Post 2

यह है घटना क्रम

पीड़िता जुगुन्ती बाई पेट दर्द की शिकायत लेकर सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र पुष्पराजगढ़ पहुंची। वहां पदस्थ डाॅ. के द्वारा दवाईयां व इंजेक्शन लगाने की बात कही गई। जुगुन्ती बाई इंजेक्शन आदि अस्पताल से प्राप्त कर वहां पदस्थ एएनएम कृष्णा सारीवान के पास गई जहां कृष्णा सारीवान द्वारा जुगुन्ती बाई के दाहिने भुजा पर इंजेक्शन लगाया गया। लापरवाही पूर्वक लगाया गया इंजेक्शन भुजा पर ही टूट कर रह गया तब लापरवाह एएनएम ने जुगुन्ती बाई से इस बात का जिक्र किसी से न करने की बात करते हुये उक्त स्थान को ढककर रखे की बात कही गई। ताकि उसकी लापरवाही छुपी रह सके। वहीं जुगुन्ती बाई दर्द से तड़पते हुये 6 घंटे तक उक्त निडिल निकलवाने के लिये इंतजार करती रही।

आर्थिक संकट से जूझ रहा पीड़िता का परिवार

जुगुन्ती बाई और उसके पति सुरेश प्रसाद सेन दिहाड़ी मजदूरी का कार्य कर अपना जीवन यापन करते है। इनके तीन बच्चे भी है जो क्रमशः 11, 07, व 05 वर्ष के है। जुगुन्ती बाई के हाथ मे बड़ा घाव हो जाने से जहां वह स्वयं कार्य करने मे असमर्थ हो गई है। वहीं उसका पति बच्चे व जुगुन्ती बाई के ध्यान रखने के चक्कर मे दिहाड़ी मजदूरी पर नही जा पा रहा है। जिससे इनके परिवार पर भरण पोेषण का आर्थिक संकट गहराता जा रहा है।

इनका कहना है

मुझे इस घटना की जानकारी जैसे मिली है मै तुरंत नर्स को उसे कारण बताओ नोटिस जारी किया हूं। और पीड़िता को बाहरी ईलाज हेतु जो भी मदद होगी मै करुंगा।
बीएमओ
एस के मरावी पुष्पराजगढ़

मेरा पूर्णतः सर्वसुविधा युक्त निःशुल्क ईलाज कराया जाये। साथ ही ऐसे लापरवाह एएनएम के उपर कड़ी कार्यवाही की जाये ताकि मेरी तरह किसी और को बेवजह दर्द से तड़पना न पडे़।
जुगुन्ती बाई

पीड़िता

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |