# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

शहरो में घुस रहे तेंदुए, वन कर्मियों को इसकी भनक तक नहीं

Post 1

भोपाल।

तीन महीने पहले शाहपुरा क्षेत्र में धमाचौकड़ी मचाने के बाद रविवार-सोमवार की रात एक तेंदुआ मानव संग्राहलय तक आ धमका। इन दोनों ही घटनाओं की जानकारी वन विभाग को बाद में लगी थी, जबकि भोपाल के आसपास 200 से अधिक कर्मियों का वन अमला चौबीस घंटे निगरानी में जुटा रहता है। तेंदुए के मूवमेंट की भनक न लगाना तेंदुए व आबादी दोनों के लिए गंभीर खतरा है, क्योंकि तेंदुए का लोगों से आमना-सामना हुआ तो जानमाल की हानि तय है। भोपाल से सटे कलियासोत, मेंडोरा, केरवा और आईआईएफएम से लगे जंगल में बाघ-तेंदुए का मूवमेंट बढ़ा है। इनमें ये तेंदुए बार-बार शहर के भीतर घुस रहे हैं। लेकिन वन विभाग की इन तेंदुओं के मूवमेंट पर पुख्ता नजर नहीं है। यही वजह है कि शहर में घुसने के बाद ये लौट जाते हैं पर वन विभाग को पता तक नहीं चलता। वहीं वन्यप्राणी विशेषज्ञों का कहना है कि भोपाल के नजदीक पहुंचने वाले बाघ-तेंदुए के मूवमेंट की विभाग को पल-पल की जानकारी होनी चाहिए। ऐसा होने पर वन्य प्राणियों को शहर में घुसने से पहले ही वापस खदेड़ा जा सकता है।

फरवरी में शहर के बीचो-बीच पहुंच गया था तेंदुआ

Post 2

बीते फरवरी में एक तेंदुआ शहर के बीचो-बीच शाहपुरा की आकाशगंगा कॉलोनी में पहुंच गया था। तेंदुए का मूवमेंट सीसीटीवी फुटेज में कैद होने के बाद वन विभाग को लगी थी। इस घटना से लोग भयभीत थे। यह तेंदुआ केरवा की तरफ से शाहपुरा पहाड़ी से होकर पहुंचा था। वहां वन विभाग की टीमें चौबीसों घंटे गश्त करती हैं लेकिन उन्हें तेंदुए की भनक तक नहीं थी।

इधर, ट्रैप कैमरे में नहीं आया तेंदुआ, पिंजरा लगाया

मानव संग्राहलय तक पहुंचा तेंदुआ ट्रैप कैमरे में कैद नहीं हुआ है। अब वन विभाग ने पिंजरे लगा दिए हैं। ट्रैप कैमरे भी लगे रहेंगे।

 

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |