# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

देश के सबसे स्वच्छ शहर में स्वच्छता का सम्मान केन्द्रीय मंत्री ने देश के 41 स्वच्छ शहरों को दिया स्वच्छता सम्मान

Post 1
देश के सबसे स्वच्छ शहर में स्वच्छता का सम्मान
केन्द्रीय मंत्री ने देश के 41 स्वच्छ शहरों को दिया स्वच्छता सम्मान

केन्द्रीय मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी शहरी विकास मंत्रालय द्वारा इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में देश के 41 शहरों के प्रतिनिधियों को विभिन्न वर्गों में स्वच्छता सम्मान प्रदान किये गये। स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 में विभिन्न वर्गों में देश के 41 शहरों ने स्वच्छता को आचरण में लाने के लिये किये गये प्रयासों को शनिवार को सम्मानित किया गया। स्वच्छता को जन आंदोलन बनाने के लिये देश के विभिन्न शहरों ने जिस तरह के प्रयास किये, उन प्रयासों को देश के सामने लाने के लिये स्वच्छता सर्वे-2018 किया गया। सर्वे के दौरान विभिन्न स्तरों पर उन प्रयासों को देखा और परखा गया। जिससे शहरों में आये बदलाव के इस स्वच्छ प्रयास को देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में सम्मानित किया गया। यह सम्मान केन्द्रीय मंत्री के अलावा मध्यप्रदेश शहरी विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह, उत्तर प्रदेश शहरी विकास मंत्री श्री सुरेश खन्ना ने प्रदान किये।
इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री श्री पुरी ने कहा कि देश की प्राचीर लाल किले से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश को स्वच्छ रखने के लिये किया गया आह्वान, आज जन आंदोलन बन गया है। अब यह सरकारी कार्य नहीं बल्कि लोगों के आचरण में आने लगा है। केन्द्रीय मंत्री श्री पुरी ने महात्मा गाँधी की बात का उल्लेख करते हुए कहा कि स्वच्छता आज राजनीतिक स्वतंत्रता से ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। वास्तव में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150वी जयंती 2 अक्टूबर 2019 को हमारा देश पूरी तरह खुले में शौच मुक्त हो जायेगा। अभियान प्रारंभ करते समय देश में 67 लाख व्यक्तिगत शौचालय और 5 लाख सार्वजनिक शौचालय अक्टूबर 2018 तक बनाने का लक्ष्य निर्धारित हुआ था। आज देश में 57 लाख व्यक्तिगत शौचालय और 3 लाख 80 हजार सार्वजनिक शौचालय बनाये जा चुके हैं। निर्धारित लक्ष्य को 2 अक्टूबर 2018 से पहले ही प्राप्त कर लिया जायेगा। केन्द्रीय मंत्री श्री पुरी ने वर्ष 2016, 2017 और 2018 में हुए सर्वेक्षण के आंकड़े भी प्रस्तुत किये। साथ ही उन्होंने कहा कि 2016 और 2017 में कई शहरों से शिकायतें भी प्राप्त हुई थी, मगर इस बार एक भी शिकायत स्वच्छता में अच्छे अंक प्राप्त किये शहरों को लेकर नहीं है। वर्ष 2016 के सर्वे में मात्र 73 शहरों ने, 2017 में 432 और वर्ष 2018 में 4 हजार 203 शहरों ने भागीदारी की है।
स्वच्छता सम्मान कार्यक्रम में मध्यप्रदेश की शहरी विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि प्रदेश में स्वच्छता के प्रति मानसिक प्रकल्प और चेतना से महा जनांदोलन बना है। प्रदेश के हर शहर और हर मोहल्ले में जनता ने स्वच्छता को आत्मसात किया है। दो वर्ष पूर्व यह सफर कठिनाईयों में शुरू हुआ, लेकिन धीरे-धीरे आसान होता चला गया और अब स्वच्छता लोगों के आचरण में दिखाई देने लगी है। शहरी विकास मंत्री श्रीमती सिंह ने कहा कि प्रदेश में 26 सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के प्रकल्प प्रारंभ हुए हैं। श्रीमती सिंह ने आने वाली पीढ़ी को स्वच्छ और स्वस्थ शहर देने में आदतन स्वच्छता अपनाने का आह्वान भी किया।
इन शहरों ने पाया स्वच्छता सम्मान-  ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में देश के 54 स्वच्छ शहरों में से 41 शहरों को स्वच्छता सम्मान केन्द्रीय मंत्री द्वारा दिया गया, जबकि सर्वे के प्रथम 14 शहरों को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा स्थानीय नेहरू स्टेडियम में सम्मानित किया जायेगा। सम्मान प्राप्त करने वाले 41 शहरों में बेस्ट सिटी इन सिटीजनशीप वर्ग में गिरडीह, बेस्ट सिटी इन सिटीजनशीप राजधानी वर्ग में राँची, पूर्व जोन की क्लीनेस्ट सिटी बुन्डू (झारखण्ड), बेस्ट सिटी इन इनोवेशन पूकुर (झारखण्ड), पूर्व जोन में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का उपयोग करने में बेस्ट सिटी चायबासा, 10 लाख की जनसंख्या से अधिक में इनोवेटिव बेस्ट प्रेक्टिस में नागपुर, 10 लाख से अधिक जनसंख्या वाले शहरों में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट बेस्ट सिटी नवी मुंबई, फास्टर मूवर सिटी भिवांडी, 3 से 10 लाख जनसंख्या में बेस्ट सिटी इन सिटीजनशीप परभणी, 1 से 3 लाख जनसंख्या वर्ग में फास्टर मूवर सिटी भुसावल सहित अन्य वर्गों में पंचगणी, सेन्द्राजनघाट (महा.), सास्वद (महा.), अम्बिकापुर, नरहारपुर (छग.), तिरूपति, गाजियाबाद, अलीगढ़, सम्थार (उप्र), कोटा, जयपुर, मेंगालुरू (कर्ना.), हुंसुर (कर्ना.), पणजी, ग्रेटर हैदराबाद, सिद्धिपेठ (तेलां), बौद उप्पल (तेलां.), पिरदीगुड़ा (तेलां.), अंकलेश्वर, भादसन (पंजाब), मूनक (पंजाब), घरोंदा (हरि.), ककचींग (मणि.), मयंग इम्फाल (मणि.), बाइटे (मिजो.), रंगपो (सिक्किम), अल्मोड़ा केंट, रानीखेत केंट, नैनीताल केंट, सेंट थॉमस माउंट केंट और जूतोग केंट (शिमला) शामिल हैं।

 

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |