# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

इन लक्षणों को न करें नजर, अंदाज हो सकता है डेंगू- एस.के. सिंह(अनिल दुबे की रिपोर्ट)

Post 1

सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र पुष्पराजगढ़ में मनाया गया डेंगू दिवस…

पुष्पराजगढ़।

सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र पुष्पराजगढ़ में 16 मई 2019 को बीएमओ एस.के. सिंह पुष्पराजगढ़ के मार्गदर्षन में राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाया गया। जिसमें डेंगू जैसे खतरनाक बीमारी से लोगो को कैसे बचाया जाये को लेकर विचार रखे गये। डेंगू बुखार मच्छरों द्वारा फैलने वाली बीमारी है जिसकी जानकारी के अभाव से प्रतिवर्ष हजारों की संख्या मे लोग इस बीमारी की चपेट में आ जाते है। जिसके कारण स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार ने 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस 2019 के रूप में मनाने का फैसला लिया है। उसी के तारतम्य मे उक्त कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

Post 2

डेंगू के प्रति लोगों को करें जागरुक

एस.के. सिंह ने स्वास्थ विभाग के एमपीडब्लू सुपरवाईजर और आशा सहयोगनी को डेंगू बीमारी से लोगो को कैसे बचाया जा सकता है इसकी रोकथाम के लिये किये जाने वाले उपाय की सम्पूर्ण जानकारी से अवगत कराया उन्होने बताया कि समस्त ग्राम की आषा कार्यकर्ताओं को घर – घर जाकर सर्वे का कार्य कराया जाये ताकि डेंगू जैसे गंभीर बीमारी के प्रति लोगो को जागरुक कर बचाया जा सके।

डेंगू बीमारी के ऐसे होते है लक्षण

डेंगू बुखार होने पर व्यक्ति को तेज बुखार आता है। कई बार इस बुखार को लोग सामान्य बुखार समझकर नजर अंदाज कर देते हैं या गलत इलाज कराते रहते हैं। 3-4 दिन में ही डेंगू का वायरस खतरनाक रुप धारण कर ग्रसित व्यक्ति के लिये खतरा बढ़ा देता है। डेंगू से आघात सिंड्रोम जैसी जटिलताएं पैदा हो सकती हैं जिससे फेफड़े, जिगर या दिल को नुकसान पहुंच सकता है। नाक, मुंह, मसूड़ो या स्किन से खून निकलना खूनी या नार्मल उल्टी होना, मल का रंग काला होना आदि लक्षण उत्पन्न होते है।

डेंगू होने का कारण

डेंगू बुखार सबसे ज्यादा बारिश के मौसम में देखने में आते हैं डेंगू का मच्छर दिन में ही काटते हैं। डेंगू मच्छर ठहरे हुए साफ पानी में पनपते हैं, जैसे कूलर के पानी में, रुके हुए नालों के साथ आस-पास की नालियों में डेंगू कम रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्तियों को आसानी से हो जाता है बेवजह थकान और कमजोरी होना, अधिक पसीना आना प्रायः इसके प्रारंभिक लक्षण होते है।

ऐसे करें डेंगू से बचाव

डेंगू के मरीजों को डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए, आराम करना चाहिए और काफी मात्रा में तरल आहार लेना चाहिए। 3 दिन से अधिक समय तक बुखार होने पर रक्तजांच जरूर कराना डेंगू बुखार से बचाव मे लाभदायी होते है। मच्छरों के काटने से बचने के उपाय के साथ डेंगू बुखार से भी बचा जा सकता है। डेंगू का बुखार या जोड़ों के दर्द को कम करने के लिए पैरासीटामोल नांमक दवा ली जा सकती है, लेकिन एस्प्रिन या आईब्यूप्रोफेन नहीं लेनी चाहिए क्योंकि इससे ब्लीडिंग का खतरा हो सकता है। इसके गंभीर होने की संभावना केवल 1 प्रतिशत होती है। अगर लोगों को खतरे के संकेतों की जानकारी हो तब बीमारी से जाने वाली जानों को बचाया जा सकता है।

ये रहे शामिल

बीएमओं एस.के. सिंह, बीई करीमन बी, सपुरवाईजर झामू सिंह, राजेश सिंह, दादूलाल उरेती, सरला रैतवार, गीता सोनवानी, तीजा एवं आषा सहयोगनी के साथ समस्त सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र स्टाफ मौजूद रहा।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |