# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

आयुष्मान कार्ड बनाने के नाम से हो रही ठगी ( आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

ग्रामीण खाता धारकों के पैसों का हो रहा फर्जी आहरण, प्रशासन को नही है ठगी की भनक

अनूपपुर।

स्वास्थ सेवा को आमजन तक पहुंचाने के उद्देश्य से भारत सरकार ने अपनी महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत योजना का सुभारंभ किया था अब इसी योजना के नाम पर ग्रामीणों को ठगा जा रहा है। ठगी को अंजाम देने का कार्य भारत सरकार की ही एक अन्य योजना सीएससी (काॅमन सर्विस सेन्टर) के संचालकों द्वारा किया जा रहा है। सीएससी संचालक नियम विरुद्ध तरीके से इस फर्जीवाडे़ रुपी ठगी को बेधड़क अंजाम दे रहे है। ताजा मामला राय सिंह पिता झुकरु सिंह खाता क्रमांक 33171898821, बुद्धसेन पिता शम्भू सिंह खाता क्रमांक 33109359009, फूलमती पति रेवा सिंह खाता क्रमांक 35418336143 के खातों से क्रमशः 10,000, 200, 1400 की राशि आयुष्मान कार्ड बनाने के नाम से निकाल कर ठगी की गई है। ये तीनों निवासी ग्राम पंचायत पड़री के रहने वाले है उन्होने इस मामले की शिकायत थाना राजेन्द्रग्राम मे की है।

Post 2

ऐसे होती है ठगी

भारत सरकार ने ऑनलाइन सेवा के लिये हर ग्राम पंचायत मे सीएससी सेन्टर खोले जाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इन सीएससी सेन्टरों से जहां बेरोजगारों को रोजगार मुहैया होता है वहीं ग्राम पंचायत स्तर के लोग ऑनलाइन सेवा का लाभ उठा सकते है किन्तु बेहतर तरीके से उच्च अधिकारियों द्वारा माॅनीटरिंग नही किये जाने से सीएससी सेन्टर संचालन की आईडी धारक अब ग्रामीणों को ठग रहे है। इनके द्वारा गांव गांव, घर घर जाकर ग्रामीणों का थम्ब आयुष्मान कार्ड के नाम से लगवाया जाता है। फिर अन्य भुगतान देयक बैंक आईडी से पैसों का आहरण कर लिया जाता है। जबकि सीएससी सेन्टर का संचालन एक जगह बैठकर स्थाई रुप से किये जाने का नियम है। इधर भोले भाले ग्रामीण इन ठगों की बातों मे आसानी से आ जाते है और ठगी का शिकार आसानी से हो जाते है। उन्हे इस बात की जानकारी तब लगती है जब वे किसी अन्य कार्य से बैंक पहुंचते है तब उन्हे पता चलता है कि उनके खाते की राशि पहले ही आहरित कर ली गई है।

इन्होने की ठगी, और यह है मामला

ठगी के शिकार राय सिंह पिता झुकरु सिंह उम्र 65 वर्ष बुद्ध सेन सिंह पिता शम्भू सिंह उम्र 28 वर्ष, फूलमती सिंह पति रेवा सिंह उम्र 40 वर्ष तीनो पड़री पोस्ट दुधमनिया के रहने वाले है। रविवार की दोपहर थाना राजेेन्द्रग्राम मे आकर इन्होनेे शिकायत दर्ज कराई कि लखन लाल, लवकुश, पिंका, रामबहोर नायक, रिंकू प्रसाद, लखन नायक और कमल सिंह शनिवार की सुबह आयुष्मान कार्ड बनाने के नाम से ग्राम पंचायत पड़री आये हुये थे और वहां घर घर जाकर आधार कार्ड व फिंगर लगवाकर रजिस्ट्रेशन करने का नाटक कर रहे थे। आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिये ये तीनों भी उनसे मिले इनका आधार कार्ड व फिंगर मैच कराकर क्रमशः 10,000, 200, 1400 की राशि आरोपियों द्वारा आहरित कर राशि का गबन कर लिया गया है। भनक लगते ही ग्रामीणों सहित तीनों प्रार्थी कियोस्क संचालक केन्द्र पहुंचकर जब अपने खााते का स्टेटमेंट निकलवाया तब उन्हे शनिवार की दोपहर की गई ठगी का पता चला तब पीड़ितों द्वारा घटना क्रम की जानकारी देते हुये थाना राजेन्द्रग्राम मे आरोपियों के खिलाफ शिकायत की गई है।

इनका कहना है

अभी मुझे मामले की जानकारी नही है किन्तु मै इस मामले की जानकारी एकत्रित कर आरोपियों के खिलाफ न्यायोचित कार्यवाही करुंगा।
दिपेन्द्र चतुर्वेदी
जिला प्रबंधक सीएससी सेन्टर

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |