# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

आईजीएनटीयू में नए सत्र के लिए 11778 आवेदन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )

Post 1

अनूपपुर,

नौ हजार आवेदन सिर्फ मध्यप्रदेश के छात्रों से, 445 छत्तीसगढ़ से
देशभर से आवेदन, केरल से 400, दिल्ली से 343, भुवनेश्वर से 287
बीएससी के लिए होगी कड़ी प्रतिष्पर्धा, 100 सीटों के लिए 3180 आवेदन
बी.फार्मा. और बी.एड. भी बने छात्रों के लिए हॉट केक, दो हजार आवेदन
एक और दो जून को तीन पारियों में होगी प्रवेश परीक्षा, तैयारी अंतिम चरण में

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय में नए शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए इस वर्ष सबसे अधिक 11778 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनमें से 9026 आवेदन मध्यप्रदेश से और 445 आवेदन सिर्फ छत्तीसगढ़ से प्राप्त हुए हैं। विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय स्तर पर स्वयं की पहचान को स्थापित करते हुए सभी प्रदेशों से बड़ी संख्या में आवेदन प्राप्त किए हैं जिनमें केरल से 400, दिल्ली से 343, भुवनेश्वर से 287 और रांची से दो सौ आवेदन शामिल हैं। छात्रों के लिए बी.एससी. पाठ्यक्रम सर्वाधिक पसंदीदा बना हुआ है जिसकी 100 सीटों के लिए 3180 आवेदन मिले हैं। परीक्षा नियंत्रक प्रो. एन.एस. हरीनारायण मूर्ति ने बताया कि प्रवेश परीक्षा के लिए सभी तैयारियां अंतिम चरण में हैं। सबसे अधिक आवेदन आईजीएनटीयू मुख्य परिसर के लिए मिले हैं जहां चार सेंटर बनाए गए हैं। यहां 2802 छात्र प्रवेश परीक्षा देंगे। इसके बाद शहडोल में तीन सेंटर-गवर्नमेंट इंदिरा गांधी होम साइंस गर्ल्स पीजी कालेज, गवर्नमेंट एक्सीलेंस गर्ल्स हायर सेंकडरी स्कूल रघुराज नंबर-2 और गर्वनमेंट ब्वायज हाईस्कूल, सुहागपुर शामिल हैं। इन तीनों सेंटर्स पर 2209 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। अनूपपुर में दो सेंटर-गर्वनमेंट तुलसी कालेज और गर्ल्स हायर सेंकडरी स्कूल बनाए गए हैं। यहां 2109 छात्र परीक्षा देंगे। इसके अतिरिक्त छत्तीसगढ़ के चार सेंटर्स पर 445 छात्र प्रवेश परीक्षा देंगे। आईजीएनटीयू के मणिपुर परिसर के लिए भी बड़ी संख्या में आवेदन प्राप्त हुए हैं। पूर्वोत्तर राज्यों के लिए बने सेंटर इंफाल में 275 और गुहावटी में 108 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे।
पाठ्यक्रमों में बी.एससी. के बाद बी.ए. के लिए सर्वाधिक प्रतिष्पर्धा रहने की उम्मीद है जिसमें 220 सीटों के लिए 1505 आवेदन मिले हैं। बी.फार्मा. की 60 सीटों के लिए 1085, बी.एड. की 50 सीटों के लिए 1005 और बी.कॉम. की 30 सीटों के लिए 866 आवेदन मिले हैं।
आईजीएनटीयू के मुख्य परिसर में संचालित पाठ्यक्रमों के लिए 1330 सीट उपलब्ध हैं जबकि मणिपुर परिसर के लिए 150 सीट हैं। आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए आरक्षण करने के बाद दोनों परिसर में कुल 1850 सीट उपलब्ध होंगी। इस प्रकार 1850 सीटों के लिए 11,778 छात्र प्रतिष्पर्धा में रहेंगे।
प्रवेश परीक्षा एक जून को परा-स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए और दो जून को स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए प्रातः 10 से 12, दोपहर एक से तीन और शाम को चार से छह बजे तक आयोजित होगी। परीक्षा नियंत्रक ने सभी छात्रों से प्रवेश परीक्षा के लिए आवश्यक दिशा-निर्देशों का पालन करने का अनुरोध किया है।
प्रवेश परीक्षा का पाठ्यक्रम पूर्व में ही विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिया गया है। कुलपति प्रो. टी.वी.कटटीमनी ने इस वर्ष सर्वाधिक आवेदन मिलने पर सभी शिक्षकों और कर्मचारियों को बधाई देते हुए प्रवेश परीक्षा देने वाले छात्रों को शुभकामनाएं दी है।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |