‘मोहब्बत एक एहसासों की पावन सी कहानी है, कभी कबीरा दीवाना था, कभी मीरा दीवानी है।’ कुमार विश्वास की इन पंक्तियों को 65 साल की विधवा अमेरिकी महिला कैरन लिलियन एबनर ने पता नहीं सुना था या नहीं, लेकिन आठ महीने पहले फेसबुक फ्रेंड बने 27 साल के प्रवीण की मोहब्बत के एहसास ने उन्हें वाकई दीवाना बना दिया।

वह प्रवीण से विवाह रचाने अमेरिका से कैथल के गांव सैर पहुंच गईं। प्रवीण ने भी अपने से 38 वर्ष बड़ी महिला के प्रेम का समादर करते हुए बृहस्पतिवार को उससे सिख रीति रिवाज से चीका में विवाह रचा लिया। वैसे भी प्रेम उम्र कहां देखता है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैंक्रों की पत्नी ब्रिगेट भी तो उनसे 24 वर्ष बड़ी हैं।

इस प्रेमकथा की शुरुआत नवंबर 2017 में हुई जब प्रवीण और एबनर फेसबुक पर दोस्त बने। कुछ दिन बाद ही दोस्ती प्यार में बदल गई। प्यार भी ऐसा कि दोनों तरफ से उम्र को लेकर कोई ख्याल ही नहीं आया। दोनों वीडियो कॉल के जरिये एक दूसरे से रूबरू भी हुए। एबनर पूरे परिवार और दोस्तों से शादी के लिए सहमति के पत्र भी लेकर आई हैं।

फिलहाल दोनों यहां किराये पर कमरा लेकर रह रहे हैं। प्रवीण ने बताया कि 21 जून को एबनर के भाई का जन्मदिन था। इसीलिए एबनर इस खास दिन को विवाह के लिए चुना। संयोग से विश्व योग दिवस भी था। एबनर 15 जून को भारत आई थीं और 18 जुलाई को वापस अमेरिका जाएंगी। हनीमून के लिए नवदंपती भारत में कई प्रसिद्ध स्थानों के भ्रमण पर जाएंगे।

एमए पास प्रवीण है राजमिस्त्री

प्रवीण ने बताया कि उन्होंने एबनर को संगिनी चुनने से पहले अपने जीवन की हर सच्चाई बताई। जब शादी के लिए एबनर ने भारत आने की बात कही तो यहां तक कहा कि उसके पास एयरपोर्ट तक गाड़ी लाने के पैसे नहीं हैं तो एबनर ने बस से गांव पहुंचने की इच्छा जताई।

प्रवीण ने इतिहास से एमए किया है और रोजगार नहीं होने के कारण राजमिस्त्री का काम करता है। प्रवीण ने बताया कि एबनर एक महीने बाद वापस अमेरिका जा रही है, लेकिन वह दोबारा आएगी। उसने भी पासपोर्ट के लिए आवेदन कर दिया है। वह पहले टूरिस्ट वीजा पर अमेरिका जाएगा।

स्थायी वीजा नहीं मिला तो एबनर भी उसके साथ भारत में ही रहेगी। प्रवीण ने बताया कि एबनर के पति का सड़क दुर्घटना में निधन हो गया था। वह जीवन भर मां नहीं बन सकतीं। एबनर अमेरिका के एक मध्य आय वर्ग वाले परिवार से हैं।