# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

कप्तान रोहित शर्मा ने रचा इतिहास

Post 1

नई दिल्ली,

आइपीएल 2019 के बाद इस लीग की सबसे सफल टीम मुंबई इंडियंस बन गई। लेकिन, मुंबई इंडियंस आइपीएल के पहले 5 सीजन में एक भी खिताब अपने नाम नहीं कर पाई थी। यहां तक कि टीम के कप्तान सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिंग और हरभजन सिंह टीम के कप्तान रह चुके थे। हालांकि, सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में मुंबई इंडियंस साल 2010 में आइपीएल के फाइनल में तो पहुंची। लेकिन, एमएस धौनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स से फाइनल में मुंबई को 22 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस तरह पहले पांच साल बिना खिताब के रहना पड़ा लेकिन, फिर आया आइपीएल का छठा सीजन यानी साल 2013। एक बार फिर मुंबई इंडियंस की कप्तानी ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज और कंगारू टीम को दो बार लगातार वर्ल्ड कप चैंपियन बनाने वाले रिकी पोंटिंग के हाथों में थी। आइपीएल 2013 में रिकी पोटिंग की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने पहले 6 में से 3 मुकाबले गंवा दिए। आखिरी मैच दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) के खिलाफ खेलते हुए रिको पोंटिंग ने टॉस से पहले ये कहा था कि कप्तानी करने में मजा आता है। लेकिन, मुंबई इंडियंस की फ्रैंचाइजी को कुछ और ही मंजूर था।

दिल्ली के खिलाफ मुकाबला हारने के बाद कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मैदान पर टॉस के लिए आए मुंबई इंडियंस की ओर से रोहित शर्मा आए। रोहित शर्मा टॉस हार गए। बारिश से बाधित इस मैच में केकेआर के कप्तान गौतम गंभीर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 159 रन बनाए। वहीं, मुंबई इंडियंस ने 19.5 ओवर में 162 रन बनाकर ये मैच 5 विकेट से अपने नाम कर लिया। इस मैच के बाद और मुंबई इंडियंस फ्रैंचाइजी के एक फैसले के बाद टीम की किस्मत बदलती चली गई।

Post 2

टॉस के दौरान कप्तान रोहित शर्मा ने कहा था कि ये हमारे लिए बहुत ही बड़ा निर्णय था कि रिकी पोंटिंग बाहर बैठे। लेकिन, मैं इस नए चैलेंज को स्वीकार कर रहा हूं। हुआ भी यही, रोहित की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने लगातार तीन मुकाबले जीते। इसके बाद हैदराबाद के खिलाफ एक मैच में हार मिली। लेकिन, इसके बाद फिर से मुंबई ने लगातार पांच मैच जीतकर प्लेऑफ में जगह बनाई। हालांकि, प्लेऑफ के मैच से पहले किंग्स इलेवन पंजाब ने मुंबई को हरा दिया। लेकिन, 16 में से 11 मैच जीतकर टॉप 2 में रहने वाली टीम मुंबई इंडियंस प्लेऑफ में बनी रही।

प्लेऑफ में पहला क्वालीफायर टॉप रैंक वाली चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया। इस मुकाबले को जीतकर एमएस धौनी की कप्तानी वाली सीएसके सीधे आइपीएल 2013 के फाइनल के लिए क्वालीफाई कर गई, जबकि मुंबई को दूसरा क्वालीफायर खेलना था। मुंबई दूसरे क्वालीफायर में राजस्थान रॉयल्स से भिड़ी। मुंबई ने राजस्थान को 4 विकेट से रौंदकर फाइनल में जगह बना ली, जहां मुंबई का सामना 2010 में मुंबई से ताज छीनने वाली सीएसके से होना था।

आज से ठीक 6 साल पहले यानी 26 मई 2013 को आइपीएल के छठे सीजन का फाइनल चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया। इस मैच में रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को हराकर ना केवल अपना पहला खिताब जीता बल्कि चेन्नई से अपना साल 2010 में मिली हार का हिसाब भी बराबर कर दिया। इसी के साथ रोहित शर्मा आइपीएल की ट्रॉफी जीतने वाले सबसे युवा कप्तान बन गए। तब उनकी उम्र 26 साल थे। इससे पहले शेन वार्न, एडम गिलक्रिस्ट, एमएस धौनी, गौतम गंभीर खिताब जीत चुके थे, लेकिन इनकी उम्र रोहित शर्मा से ज्यादा थी।

 

 

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |