# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

ड्रोन से होगी डॉल्फिन और दूसरे जलीय जीवों की गिनती

Post 1

भिंड। 

राष्ट्रीय घड़ियाल चंबल सेंक्चुरी में डॉल्फिन की सुरक्षा को लेकर महकमा अब ज्यादा अलर्ट हो गया है। चंबल नदी में पाई जाने वाली गेंगेटिक डॉल्फिन की गणना अब नदी के पानी के अंदर ड्रोन कैमरे से की जाएगी। पिछले 1 सप्ताह से भारतीय वन्य जीव संस्थान देहरादून की टीम सेंक्चुरी के अधिकारियों और कर्मचारियों को ड्रोन के इस्तेमाल की ट्रेनिंग दे रहे हैं। यह ड्रोन पानी के भीतर जाकर डॉल्फिन और दूसरे जलीय जीवों की तस्वीरें और वीडियो बनाएगा। इससे इनकी सही गणना हो पाएगी। सेंक्चुरी में पहली बार नदी के पानी के भीतर ड्रोन की मदद से गणना की जाएगी। इस ड्रोन को लेकर सेंक्चुरी के अफसरों और कर्मचारियों में भारी उत्साह है। साथ ही इससे गणना जल्दी और सही होगी।

यहां बता दें, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश और राजस्थान की सीमा में 435 किमी लंबी राष्ट्रीय चंबल घड़ियाल सेंक्चुरी में करीब 74 डॉल्फिन की गणना बताई जाती है। इनमें से 80 फीसदी डॉल्फिन भिंड क्षेत्र में चंबल सेंक्चुरी के घाटों पर पाई जाती है। चंबल में पाई जाने वाली डॉल्फिन गहरे पानी के पूल में अपना घर बनाती है। यह पूल सबसे ज्यादा भिंड क्षेत्र में चंबल नदी में पाए जाते हैं।

Post 2

500 मीटर गहरे पानी की तस्वीरें खींचेगा

वन्य जीव संस्थान देहरादून की टीम की ओर से चंबल सेंक्चुरी में डॉल्फिन व दूसरे जलीय जीवों की गणना के लिए जो ड्रोन इस्तेमाल किया जा रहा है वह 500 मीटर गहराई में जाकर फोटो और वीडियो बनाने में मदद करेगा। सेंक्चुरी के डीएफओ प्रभुदास गेव्रियल का कहना है कि यह ड्रोन हवा में उड़ने वाले ड्रोन से अलग तरह का है। डीएफओ का कहना है कि यह ड्रोन नदी में पनडुब्बी की तरह अंदर ही अंदर जाकर डॉल्फिन और जलीय जीवों की तस्वीरें लेकर गणना में मदद करेगा। हवा में उड़ने वाला ड्रोन वायरलेस होता है, लेकिन यह ड्रोन वायर से ज्वाइंट होगा।

चंबल सेंक्चुरी में डॉल्फिन और दूसरे जलीय जीवों की गणना के लिए भारतीय वन्य जीव संस्थान देहरादून की टीम नदी में पानी के भीतर से तस्वीरें खींचने वाले ड्रोन की ट्रेनिंग दे रही है। इसी ड्रोन से गणना की तैयारी है। यह ड्रोन 500 मीटर गहराई की तस्वीरें खींच सकता है।

 

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |