# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

सरपंच, सचिव, उपयंत्री भ्रष्टाचार की गंगा मे लगा रहे डुबकी ( पुष्पराजगढ़ से पूरन चंदेल की रिपोर्ट )

Post 1

आदर्श पंचायत बहपुर मे जारी है घोटालों पे घोटाला

कागज मे बने 800 शौचालय हकीकत मे डब्बा गोल

पुष्पराजगढ़।

Post 2

जिले के तीन आदर्श पंचायतों मे से एक बहपुर पंचायत मे भ्रष्टाचार की गंगा हिलोरे मार रही है। यहां पदस्थ उपयंत्री समेत सरपंच सचिव आये दिन कागजी खेल खेल कर सरकारी पैसों का बंदरबाँट करने से बाज नही आ रहे है। जिनके कंधों पर योजनाओं के क्रियान्वयन की जिम्मेवारी सौंपी गई है वे अधिकारी भी कुम्भकरणी निद्रा मे लीन है। विदित हो कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अथक प्रयासों से जिले की तीन पंचायतो को प्रधानमंत्री आदर्श पंचायत घोषित किया गया था। इन पंचायतों मे ज्यादातर पिछड़े तबके के लोगों की बाहुल्यता है तब दबे कुचले लोगों को विकास के माध्यम से सबल बनाकर मुख्य धारा मे जोड़ने का सपना दिखाया गया था। आदर्श पंचायत के नियमानुसार हितग्राही मूलक योजनाओं का क्रियान्वयन पात्र हितग्राहियों को शत प्रतिशत लाभ देकर किया जाना था। लेकिन भ्रष्टाचार की दलदल मे फंसा बहपुर ग्राम पंचायत आदर्श ग्राम पंचायत तो घोषित हो गया लेकिन विकास कार्य मे अब भी काफी पीछे है।

कागज मे बने 800 शौचालय

वर्ष 2018 मे भारत सरकार के तात्कालीन अपर सचिव ग्राम स्वराज योजना के तहत जिले का भ्रमण किये थे तब जिले के पुष्पराजगढ़ जनपद अंतर्गत आने वाले तीन पंचायतों जरही, करौंदी एवं बहपुर को आदर्श ग्राम पंचायत घोषित किया गया था। और 20 लाख रुपये की अतिरिक्त राशि प्रति वर्ष इन पंचायतों को दिया जाना बताया गया था। तब से सुरु हुआ सरकारी राशि का बंदरबांट आज तक बेदस्तूर जारी है। ताजा मामला शौचालय निर्माण का सामने आया है। बहपुर पंचायत मे 800 शौचालय बनाने का लक्ष्य दिया गया था जिसे समय अवधि मे कागजों पर पूर्ण होना भी बता दिया गया है साथ ही पैसों का आहरण भी किया जा चुका है। जबकि हकीकत मे बहपुर पंचायत मे षायद ही कोई ऐसा शौचालय बना हो जिसका उपयोग किया जा रहा हो बहपुर मे प्रायः शौचालय आधे अधूरे हैं जिनका उपयोग नही किया जा सकता। ग्रामीण अपनी बेबसी की षिकायत मुख्यमंत्री हेल्प लाईन नं 181 मे यदि दर्ज कराते है तो उपयंत्री द्वारा उन्हे शांत रहने की नसीहत दी जाती है।

शौचालय मे सीट,छत, ढक्कन नदारत

ओडीएफ घोषित जिले के इस आदर्श ग्राम पंचायत बहपुर की हकीकत यह है कि यहां बनाये गये शौचालयों मे सीट नही लगाई गई है। किसी की छत नही है तो किसी का गढ्ढा नही बनाया गया जहां गढ्ढे बने भी है वहां ढक्कन नदारत है महज फोटो फर्जी खींचकर कागजी कोरम पूरा कर लिया गया है। सरपंच सचिव इंजीनियर फर्जी दस्तावेज तैयार कर इन 800 शौचालय को पूर्ण होने की पुष्टि भी कर चुके है जबकि जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां करती है।

मान मनौअल के साथ पल्ला झाड़ रहे

पूर्व मे ग्रामीणो द्वारा मुख्यमंत्री हेल्प लाईन नं 181 मे गुणवत्ताहीन निर्माण कार्यों की शिकायत की गई थी तब बहपुर पंचायत के उपयंत्री सरपंच सचिव समेत शिकायत कर्ता पर लगातार दबाव बनाते हुये प्रलोभन देकर शिकायत वापस लेने के हथकंडे आजमा रहे है। वहीं उपरोक्त कार्यो के बारे मे जब सचिव से ग्रामीणों ने बात की तब वर्तमान सचिव दल सिंह ने शौचालय निर्माण कार्य पूर्व सचिव सुरेन्द्र मिश्रा के द्वारा कराया जाने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ते दिखे। इधर ग्रामीण जनपद से लेकर जिला पंचायत तक शिकायतें करने के बावजूद आजतक न्याय से वंचित है।

जांच मे होती है लीपापोती

अपने मनमाने मातहतों की वजह से जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ पहले से ही सुर्खियों मे बनी रहती है। यहां पदस्थ सरकारी मशीनरी के कुछ अधिकारी वर्षो से उक्त जनपद पर अंगद की तरह पैर जमाये बैठे है। ऐसे मे जब भी ग्रामीणों के द्वारा गुणवत्ता हीन निर्माण कार्यों की शिकायत जनपद पंचायत मे की जाती है तब जांच के नाम पर लीपापोती करने मे माहिर ये अधिकारी लक्ष्मी का चढावा लेकर मामले की इतिश्री कर देते है। वास्तविकता मे यदि ग्राम पंचायत बहपुर मे शौचालय समेत अन्य किये गये निर्माण कार्यों की जांच की जाये तब लाखों का फर्जीवाड़ा उजागर होगा।

इनका कहना है

मुझसे बारबार जानकारी क्यों लेते हो ? यदि जानकारी चाहिये तो उच्च अधिकारियों से प्राप्त करें शौचालय निर्माण पूर्व सचिव सुरेन्द्र मिश्रा के समय का है। ये सही है कि शौचालय निर्माण पूर्ण नही है।

सचिव ग्राम पंचायत बहपुर
दलसिंह

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |