# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

रासायनिक-परमाणु हमलों से निपटने के लिए चिकित्सा प्रबंधन पाठ्यक्रम शुरू करेगा AIIMS

Post 1

भोपाल


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) भोपाल रासायनिक-जैविक-रेडियो विकिरण-परमाणु और विस्फोटक हमलों या आपदाओं (सीबीआरएनई, डिजास्टर) से निपटने के लिए डॉक्टरों के लिए चिकित्सा प्रबंध का एक स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम जुलाई 2019 से प्रारंभ करने जा रहा है। एम्स, भोपाल के निदेशक प्रफेसर सरमन सिंह ने मंगलवार को बताया कि सीमा पार से होने वाले सीबीआरएनई हमलों या आपदाओं से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर चिकित्सा प्रबंधन का एक स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम जुलाई 2019 से शुरू किया जा रहा है। छह महीने के इस पाठ्यक्रम में 12 डॉक्टरों को प्रवेश दिया जाएगा। यह पाठ्यक्रम शुरू करने वाला एम्स भोपाल पहला संस्थान होगा। इसके बाद यह पाठ्यक्रम एम्स जोधपुर और दिल्ली में भी प्रारंभ किया जाएगा।

DRDO, IGNOU और INMAS के सहयोग से पाठ्यक्रम

Post 2


यह पाठ्यक्रम इन्स्टिट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन ऐंड अलाइड साइंस (आईएनएमएएस), रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और इग्नू के सहयोग से चलाया जाएगा। इस पाठ्यक्रम से प्रशिक्षित डॉक्टर देश पर सीबीआरएनई हमलों या आपदाओं के समय समाज के लिए मददगार साबित होगें।

AIIMS भोपाल की उपलब्धियों की दी जानकारी


पिछले एक साल में एम्स भोपाल संस्थान की उपलब्धियों की जानकारी देते हुए सिंह ने बताया कि हाई रिस्क वायरस की जांच के लिए रीजनल वायरॉलजी लैब शुरू की गई है। इससे जीका वायरस तथा स्वाइन फ्लू के वायरस की जांच हो सकेगी। शीघ्र ही यहां पर कैंसर के इलाज का केंद्र भी शुरू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अनुसंधान एम्स, भोपाल का एक अहम काम है। वर्ष 2018-19 में संस्थान ने कुल 174 अनुसंधान का प्रकाशन किया जबकि इसके पूर्व के वर्षों में क्रमश: 130 और 95 प्रकाशन किए गए थे। उन्होंने कहा कि एम्स भोपाल की कुल 960 बेड की क्षमता के मुकाबले 600 बेड की क्षमता हासिल की जा चुकी है। इसके साथ ही 16 बेड की क्षमता वाला एमडीआर टीबी वॉर्ड और लैब जल्द ही शुरू किया जाने वाला है।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |