# भारत में रिकार्ड ; एक ही दिन में मिले 26000 हजार से ज्यादा मामले ## भारत में कोरोना का कुल आकड़ा 822,603 # वहीँ 516,206 मरीज ठीक हुए,तो वहीँ 22,144 लोगों की हुई मौत # # भारत विश्व में कोरोना के चपेट में पंहुचा तीसरे नंबर पर ये बढ़ता आकड़ा, डराने वाला है # वही रिकवर मरीजों की संख्या भारत में बेहतर ##

Post 5

प्रकृति की सुंदरता का लगा रहे ग्रहण,पुष्पराजगढ़, क्षेत्र में अवैध पत्थर खदानों की भरमार

Post 1

क्रेषरों मे
खुलेआम हो रहा बारुद का उपयोग

पुष्पराजगढ़। पुष्पराजगढ़ क्षेत्र के वन एंव राजस्व हल्के की भूमि मे खनिज माफियाओ द्वारा रात-दिन पत्थरो का अवैध उत्खनन, परिवहन किया जा रहा है जिससे प्राकृतिक सम्पंदा नष्ट होने के साथ शासन को राजस्व की भी भारी क्षति हो रही है। खनन कार्य मे सुबह से लेकर देर रात तक बारुद का उपयोग भी धडल्ले से हो रहे अवैध उत्खनन मे खनिज एंव राजस्व विभाग द्वारा अपनाई जा रही चुप्पी को लेकर चैक चैराहो मे चर्चा आम हो गई है। जिस कारण खनन का काला कारोबार क्षेत्र मे जमकर फल-फूलने के साथ माफिया मालामाल हो रहे है।
टूट रहे पहाड़
ग्रामीणों के अनुसार क्षेत्र के खनन से जुडे लोगों द्वारा बताया गया कि अवैध रुप से दिनभर पत्थरो का उत्खनन कर परिवहन किया जाता है जिसे गिट्टी, बोल्डर के रुप मे बनाकर क्षेत्र के क्रेषरो सहित अन्य जगहो मे खपाया जाता साथ ही बोल्डरों से भरे वाहन दिनभर सडकों मे दौडते नजर आते है। रात-दिन हो रहे अवैध खनन से पहाडो का सीना छलनी होता जा रहा है पहाडो मे खनन कर गिट्टिया तोडी जा रही है। कभी चारो ओर पहाडो से भरपूर रहे क्षेत्र मे धीरे-धीरे पहाडो विलुप्त होते जा रहे है।
बारूद का हो रहा उपयोग
यहां पर संचालित पत्थर खदानों में माफियाओं द्वारा खनन के लिये बारुद ंएंव डेटोनेटर का प्रयोग किया जाता है जो कि सुरक्षा से खिलवाड हो रहा है। खनन के लिये श्रमिकों को गहराई वाले क्षेत्रो मे बारुद लगाने भेजा जाता है, बारुद के उपयोग से पूर्व मे भी क्षेत्र मे कई हादसे हो चुके है। लेकिन इसके बाद भी प्रषासन के जिम्मेदार प्रभावी कार्यवाही नही कर रहे है।
क्षेत्र हो गया खोखला
पत्थरो के खनन के कारण आसपास के क्षेत्र की शासकीय भूिम व वन भूमि से बडे पैमाने पर पत्थरो की चोरी होने के कारण क्षेत्र से खनिज संम्पदा पर संकट मडरा रहा है। साथ ही पर्यावरण को भारी नुकसान पहुच रहा है। खनिज अधिकारी कभी कभार खानापूर्ति की कार्यवाही करके चले जाते है। वो कार्यवाही भी माफियाओ के इषारे पर होना बताई जाती है।
अवैध क्रेषरों का संचालन
क्षेत्र के आसपास एक दर्जन से ज्यादा अवैध क्रेषरो का संचालन किया जा रहा है। प्रषानिक उदासीता का आलम यह है कि आसपास के इलाकों में जगह-जगह पर क्रेषरों का संचालन किया जा रहा है जहां पर संचालित क्रेषर नियमों की धज्जियां उडा रहे है जो वाहन चालको को बीमारी परोसने के साथ उडते डस्ट से दुर्घटना की आंषका बनी रहती है। क्षेत्र के कई क्रेषरो मे बिना भंडारण अनुमति के ही पत्थरो का अवैध स्टाक किया जाता है।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

सचिव रोजगार सहायक और सरपंच की मिलीभगत से पंचायत का हुआ बंटाधार (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     ग्राम पंचायत जीलंग सचिव, रोजगार सहायक हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिलाने के नाम पर कर रहे है अवैध वसूली -(पूरन चंदेल की रिपोर्ट- )     |     पट्टे की भूमि पर लगी धान की फसल में सरपंच/सचिव/रोजगार सहायक करा दिए वृक्षारोपण (पूरन चंदेल की रिपोर्ट)      |     ग्राम पंचायत किरगी के नाली निर्माण भ्रस्टाचार की फिर खुली पोल {मनीष अग्रवाल की रिपोर्ट}     |     ओवरलोडिंग से सड़कों की हो रही खस्ताहाल ट्रक ट्रेलर मोटर मालिक हो रहे मालामाल {वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की रिपोर्ट}     |     क्या यहाँ ? इंसान की जगह आवारा कुत्तो को किया जाता है भर्ती {पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट}     |     कमिश्नर को दिया आवेदन पत्र, दुकानदार के कहने पर की थी शिकायत (रमेश तिवारी की रिपोर्ट))     |     युवा अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यों में लगाएँ, सोशल मीडिया का करें सदुपयोग- कलेक्टर     |     अनुपपुर जिले में आगामी रविवार को नही रहेगा पूर्ण लॉकडाउन (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |     धार्मिक स्थलों में ना करें सामूहिक पूजा- बिसाहूलाल सिंह (अनिल दुबे की रिपोर्ट)     |