# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

पूरी तरह से नहीं टला तूफान वायु का खतरा

Post 1

अहमदाबाद,

चक्रवाती तूफान ‘वायु’ (Cyclonic storm Vayu) को लेकर गुजरात पर छाया संकट थोड़ा कम हो गया है। पश्चिम रेलवे ने चक्रवात वायु के चलते नौ और ट्रेनें रद्द कर दी गईं और चार अन्य ट्रेनों को आंशिक रूप से रोक दिया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक, 150 से ज्यादा की रफ्तार से गुजरात (Gujarat ) की तरफ बढ़ रहे चक्रवाती तूफान वायु ने अपनी दिशा बदल ली है। माना जा रहा है कि अब वह गुजरात के तटीय इलाकों को छू कर निकल जाएगा। हालांकि, खतरा अभी पूरी तरह ने नहीं टला है।

बीश्केक पुहंचते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सीएम विजय रुपाणी से फोन पर बात की। पीएम मोदी ने गुजरात में चक्रवात वायु के दौरान चल रही तैयारियों के बारे में जानकारी ली। वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चक्रवात की तैयारियों को लेकर नेवी और कोस्ट गार्ड की तौयारियों का जायजा लिया है।

Post 2

गुजरात सरकार के एडिशनल सेक्रेटरी पंकज कुमार ने जानकारी देते हुए कहा है कि Cyclone Vayu के कारण अभी तक किसी के घायल होने का या मारे जाने की कोई खबर नहीं है। वहीं, चक्रवात का फिलहाल गुजरात के हवाई अड्डों पर कोई असर नहीं पड़ा है। सूरत, भुज, केशोद, कांडला, जामनगर, वडोदरा, अहमदाबाद में स्थिति सामान्य है। दीव, पोरबंदर और भावनगर के हवाई अड्डे पर 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। स्थिति पर बारीकी से नजर रखी जा रही है।

युद्ध स्तर पर की गई तैयारियां 

गुजरात सरकार ने हालात से निपटने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारियां की हैं। इस दौरान एनडीआरएफ की 52 टीमों को तैनात किया गया है। साथ ही, सेना के तीनों अंगों और कोस्ट गार्ड को भी अलर्ट पर रखा गया है। पुलिस व राज्‍य सरकार के आला अफसर लगातार चक्रवात की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। चक्रवात की गति 135 से 145 किमी प्रति घंटा बताई जा रही है, लेकिन इसके 160-170 किमी प्रति घंटे तक बढने की भी आशंका है। वायु चक्रवात के अब गुजरात के तट से टकराने का खतरा टल गया है, लेकिन सरकार व आपदा प्रबंधन ने आगामी 15 जून तक लोगों को सावधान रहने को कहा है।

गांवों को कराया गया खाली
प्रशासन ने एहतियातन कदम उठाते हुए तटीय इलाकों में रह रहे लगभग 4 लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। देर रात तक NDRF और पुलिस की टीमों ने मिलकर कई गांवों को खाली कराया। लगभग 10 हजार से ज्यादा पर्यटकों को भी सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।

यातायात सेवाएं बाधित
तूफान के चलते रेल, सड़क और वायु यातायात सेवाएं बाधित हो गई हैं। पोरबंदर समेत प्रभावित इलाकों के हवाई अड्डों से उड़ानों को निलंबित कर दिया गया है। चार सौ उड़ानों पर इसका असर पड़ा है। पश्चिम रेलवे ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों से गुजरने वाली 15 ट्रेनों को रद कर दिया है, उनका समय बदल दिया है। प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में पोर्ट पर भी कामकाज ठप है।

प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर 
चक्रवाती तूफान वायु के दौरान लोगों की मदद के लिए प्रशासन ने कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए है। NDRF के कंट्रोल रूम का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372, कच्छ कंट्रोल रूम का नंबर- 02832-250080, राजकोट कंट्रोल रूम का नंबर- 0281-2471573, जामनगर कंट्रोल रूम का नंबर- 0288-2553404, पोरबंदर कंट्रोल रूम का नंबर- 0286-2220800 और दाहोद कंट्रोल रूम का नंबर- 02673-239277 है।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |