# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

शराब माफिया के सामने नतमस्तक जिला प्रशासन ( आशुतोष सिंह की रिपोर्ट )

Post 1

आबकारी विभाग के सह पर जिला मुख्यालय मे जगह जगह बिक रही अवैध शराब

इन्ट्रो- जिला मुख्यालय के होटलो, पान गुमटी सहित ग्रामीण क्षेत्रों की किराना दुकानों से अंग्रेजी शराब बेची जा रही है। यह गोरखधन्धा शराब माफिया के नुमाईदें आबकारी विभाग की सह पर कर रहे है। इस अवैध शराब के चंगुल मे फंसकर नवयुवक, बच्चे, बुजुर्ग सभी नशे के आगोश मे समा रहे है। वहीं शराब माफिया लाखों करोणों की कमाई कर जवाबदार महकमे का जेब गर्म कर खुद मालामाल हो रहे है।

अनूपपुर।

Post 2

जिले मे स्वीकृत सरकारी शराब दुकान मालिक अपनी मनमर्जी चला रहे है। आलम यह है कि मुख्यालय सहित पूरे जिले मे शराब दुकानों के आगे रेट लिस्ट नदारद है। जिसका सीधा फायदा शराब को उचे दाम मे बेंचकर लिया जा रहा है। जिले भर मे पैकारी अपने सबाब पर चल रही है। तो वहीं म.प्र. की अंग्रेजी शराब निकटवर्ती राज्य छ.ग. मे बिक रही है। आबकारी सहित पुलिस विभाग कार्यवाही करने से पीछे हटते दिखाई देते है। जिले मे शायद ही ऐसा कोई कस्बा ईलाका हो जहां अवैध रुप से शराब न बिेक रही हो। आसानी से मुहैया हो रही इस शराब से जहां युवा वर्ग नशे का आदी हो रहा है वहीं पारिवारिक लड़ाईयां बढ़ रही है। बीते वर्ष हुई घटनाओं पर नजर डाली जाये तो घरेलू हिंसा के प्रायः मामले शराब के नशे मे अंजाम दिये गये है वहीं सड़क हादसे मे हुई मौतों मे भी कई बार वाहन चालकों को नशे की हालत मे वाहन चलाते पाया गया है यह सब अवैध रुप से गांव गोव बिक रही आसानी से मिलने वाली शराब की वजह से संभव हुआ है कहना अतिषयोक्ति नही होगी।

जगह जगह बिक रही अवैध शराब

जिला मुख्यालय एवं आस पास के होटल ढाबा, गुमटी एवं ग्रामीण क्षेत्र के किराना दुकानों मे बच्चो एवं नवयुवकों को खुलेआम शराब की बोतले लेकर जाते देखा जा सकता है। वहीं आलम यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों मे लोग शाम को हाथ मे बोतल रखे पंचायत, स्कूलों सहित सरकारी दफतरों मे जमघट लगाकर सुरापान करते दिखाई देते है। इस अवैध धन्धे से जहां शराब माफिया की कमाई दिन दुगनी रात चैगनी हो रही है वहीं बच्चे एवं नवयुवक शराब के आदि होते जा रहे है। आये दिन ग्रामीण क्षेत्रों मे गाली गलौच एवं मारपीट करते रहते है। किराना दुकान एवं चैराहे मे आये दिन नशेड़ियों की जमघट लगी रहती है जो महिलाओं को छीटाकसी करते है।

म.प्र. की शराब बिक रही छ.ग. मे

अनूपपुर जिले मे सीमावर्ती क्षेत्रों मे खुली लायसेंसी शराब दुकानों से अवैध शराब की खेप छ.ग. पहुंचाई जाती है। ऐसा नही है कि यह गोरखधंधा आबकारी विभाग के सामने न आया हो बाजाय लगाम लगाने की विभाग के ही कर्मचारी संरक्षण दिये बैठे है। पूर्व मे अवैध शराब से भरी बोलेरो का पीछा खुद जिला आबकारी अधिकारी ने किया था वह मामला भी ठंडे बस्ते मे पड़ा है। यदि जवाबदार महकमा अपनी जिम्मेवारी निभाये तो वेंकटनगर, राजनगर, बिजुरी, कोतमा, जैतहरी, भालूमाड़ा की अवैध शराब की खेप को रोेंका न जा सके।

जमकर हो रही पैकारी

शराब माफियाओं के लिये पैकारी शब्द अवैध पैसा कमाने साधन बना हुआ है। पैकारी का मतलब अंग्रेजी शराब दुकानों की जगह अन्यत्र छोटी छोटी जगहो पर बेरोजगार युवको के माध्यम से शराब बेंची जाती है। सुराप्रेमी इन दुकानों से बढ़े हुये दाम पर शराब खरीदकर अपना सौख पूरा करते है जिले मे सायद ही कोई छोटा कस्बा नुमा गांव होगा जहां पैकारी की शराब न बिक रही न हो। इस पैकारी के लिये जितनी जिम्मेवार आबकारी विभाग है उतना ही शराब ठेकेदार इस अवैध कारोबार को करने के लिये लालाईत रहता है।

गोरखधंधे पर पुलिस का अभयदान

लायसेंसी शराब दुकान की आड़ में निजी वाहनो से अवैध शराब का परिवहन कर दुकानदारों तक शराब पहुंचाई जा रही है। जिस पर अंकुश लगाने में आबकारी और पुलिस प्रशासन दोनो ही नाकामयाब साबित हो रहे है। शासन द्वारा आवंटित शराब दुकान की आड मे शराब ठेकेदार द्वारा अवैध शराब का कारोबार जमकर फैलाया जा रहा है, लायसेंसी दुकान के नाम पर नगर और ग्रामीण क्षेत्रो मे जगह -जगह अवैध शराब परीवहन कर बिकवाई जा रही है। आलम ऐसा है की निजी वाहनो से खुलेआम अवैध शराब का परीवहन करते देखा जा सकता है, नगरीय क्षेत्र के साथ ग्रामीण क्षेत्रो मे कमीशन का लालच देकर आदिवासीयो से शराब बिकवाई और परोसी जा रही है। शराब ठेकेदार द्वारा अधिकारियों से साठगांठ कर खुलेआम इस गोरख धंधे को चलाया जा रहा है जिसे देखकर आबकारी और पुलिस प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी मूक दर्शक बने बैठे है।

इनका कहना है

जल्द ही मामले को दिखवाता हूं।
जिला कलेक्टर अनूपपुर
चंद्रमोहन ठाकुर

मै अभी कुछ दिन पूर्व ही ज्वाईन किया हूं अगर पैकारी के माध्यम से षराब जिले मे बेंची जा रही है तो जांच कर दोषियों पर कार्यवाही की जायेगी।
प्रभारी जिला आबकारी अधिकारी
पत्रस बड़ा

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |