# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

ये है अनूपपुर जिले के कोरोना योद्धा, इनके हौसलों को सलाम इनकी मेहनत ने रंग दिखाया (अनिल दुबे की रिपोर्ट)

आइसोलेशन वार्ड में सेवा प्रदान कर रहीं सिस्टर नीना खेस, कविता राठोर और ओटी अटेंडेंट रिज़वान के कार्य के प्रति समर्पण को कलेक्टर ने सराहा...

Post 1

तीनो कोरोना संक्रमित मरीज़ों को स्वस्थ देखकर मिली आत्मीय शांति – स्वास्थ्य दल…

कोरोना योद्धाओं का असली सम्मान है, बचाव एवं सुरक्षा निर्देशों का पूर्णतया अनुपालन- कलेक्टर…

अनूपपुर। हमारे समाज में डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है, क्योंकि ये वो हैं जो किसी को मौत के मुंह में जाने से बचा सकते हैं। किसी इंसान को जिंदगी दे सकते हैं। खोई हुई उम्मीदों को फिर से नया उत्साह दे सकते है। धरती पर एक डॉक्टर ही साक्षात ईश्वर का काम करता है और इसके लिए उनके प्रति जितना कृतज्ञ हुआ जाए कम होगा। स्टाफ़ नर्स नीना ख़ेस, सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कविता राठोर और ओ॰टी॰ अटेंडेंट रिज़वान शेख़ के रूप में अनूपपुर ज़िले के तीन कोरोना संक्रमितों को कुछ ऐसा ही अनुभव हुआ।

Post 2

तीनो का यही कहना था कि उन्हें लगा ही नही वह घर से बाहर हैं, परिवार के सदस्यों की तरह पूरे स्नेह के साथ उनका ख़्याल रखा गया। चिकित्सा सुविधाओं के साथ उनको मानसिक सहयोग भी प्रदान किया गया। उनकी छोटी-छोटी असुविधाओं का भी दीदियों ने ध्यान रखा।

ये है कोरोना योध्या  नीना ख़ेस

स्टाफ़ नर्स नीना ख़ेस वर्ष 2007 से स्वास्थ्य विभाग में पूरे मनोयोग से अपनी सेवाएँ प्रदान कर रही हैं, मूलरूप से छत्तीसगढ़ की निवासी सुश्री ख़ेस का कहना है कि इस विपत्ति के समय में हमें आमजन की सेवा करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ यह हमारे लिए गौरव का विषय है। आपका कहना है ये 15 दिन कैसे बीते पता भी नही चला, तीनो ही युवा स्वस्थ होकर गए यह बहुत ही संतोषप्रद है।

 

ये है कोरोना योध्या कविता राठोर

सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कविता राठोर वर्ष 2011 से ज़िला चिकित्सालय में अपनी सेवाएँ प्रदान कर रही हैं। श्रीमती राठोर बताती हैं तीनो ही मरीज़ों की सेवा करते करते, कब वे परिवार का हिस्सा बन गए पता ही नही चला। अभी भी उनसे बात होती है, उनका स्वास्थ्य हाल चाल लेने के साथ-साथ जीवन में कैसे आगे बढ़े, ऐसे विषयों पर भी संवाद होता है।

ये है कोरोना योध्या रिज़वान शेख़

ओटी अटेंडेंट रिज़वान शेख़, सुश्री ख़ेस एवं श्रीमती राठोर के साथ तीनो ही मरीज़ों की सेवा में लगे रहे। दिन रात प्रोटोकॉल के आधार पर कार्यवाहियों को सम्पादित करने में लगे रिज़वान का एक लक्ष्य था तीनो मरीज़ों का स्वस्थ होना। जब तीनो मरीज़ स्वस्थ होकर ज़िला चिकित्सालय से विदा ले रहे थे तो पूरी स्वास्थ्य टीम को आत्मीय शांति प्राप्त हुई कि आख़िरकार उनकी सेवा और प्रार्थना सुनी गयी और अनूपपुर ज़िला अब पुनः कोरोना संक्रमण से मुक्त हो गया है।

कलेक्टर अनूपपुर – कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने कोरोना योद्धाओं स्टाफ़ नर्स नीना ख़ेस, सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कविता राठोर एवं ओटी अटेंडेंट रिज़वान शेख़ की कार्यों के प्रति पूर्ण समर्पण एवं इस विपत्ति की घड़ी में शासन प्रशासन के साथ अग्रणी भूमिका निभाने हेतु सराहना की है। आपने आम जनो से अपील की है कि अपने कोरोना योद्धाओं के इस त्याग एवं समर्पण का सम्मान करते हुए कोरोना से बचाव हेतु निर्देशों का पालन कर शासन एवं प्रशासन को सहयोग प्रदान करें।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |