# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

बायो मेडिकल वेस्ट प्रबंधन हेतु प्रदूषण नियंत्रण विभाग द्वारा की जा रही है कार्यवाही (अनिल दुबे की रिपोर्ट)

Post 1

अनूपपुर। क्षेत्रीय अधिकारी मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड शहडोल ने जानकारी दी है कि संभाग के सभी चिकित्सा संस्थानों से उत्पन्न जैव चिकित्सा अपशिष्टों के एकत्रीकरण, परिवहन तथा नियमानुसार सुरक्षित डिस्पोजल की कार्यवाही सतत रूप से की जा रही है। इस हेतु केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की गाईड लाईन्स के अनुसार 02 कॉमन फेसिलिटीज पूर्व से ही स्थित है। जिनके द्वारा सतत रूप से अस्पतालों के संक्रमणकारी अपशिष्टों को एकत्रित किया जा रहा है, जिनमें कुल 6 डेडीकेटेड वाहन संगठन है तथा इन समस्त वाहनों में जी.पी.एस. ट्रेकिंग सुविधा है।समस्त कॉमन फेसिलिटीज में अपशिष्टों के डिस्इंफेक्शन हेतु केमिकल ट्रीटमेंट, आटो क्लेविंग तथा इंसीनेटर्स (भस्मक) स्थित है। भस्मक की चिमनियों पर सतत उत्सर्जन मापन हेतु ऑनलाईन मानिटरिंग की व्यवस्था है, जिसकी निगरानी मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालयों सहित पर्यावरण निगरानी केन्द्र द्वारा भी की जाती है। इस प्रकार अस्पतालों के अपशिष्टों के एकत्रीकरण, परिवहन तथा सुरक्षित डिस्पोजल की पूर्ण व्यवस्था की अधोसंरचना पूर्व से ही विद्यमान तथा संचालित है, जिसकी समय-समय पर समीक्षा भी की जाती है। कोविड-19 के संदर्भ में क्षेत्रीय कार्यालय म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, शहडोल के द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण की जानकारी संज्ञान में आने पर बोर्ड मुख्यालय द्वारा समस्त क्षेत्रीय अधिकारियों को दूरभाष तथा कार्यालय के व्हाट्स एप ग्रुप पर अस्पतालों के अपशिष्टों के एकत्रीकरण, परिवहन तथा डिस्पोजल के संबंध में सभी संबंधित कॉमन फेसिलिटीज को जिला एवं स्थानीय प्रशासन से समन्वय कर प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिए गये थे।

क्षेत्रीय कार्यालय म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, शहडोल के द्वारा लॉकडाउन के दौरान भी म.प्र. बायो मेडिकल वेस्ट सिस्टम, इटौरा के द्वारा एकत्रीकरण किये जा रहे जैव चिकित्सा अपशिष्ट की संग्रहण एवं उपचार की सतत मानिटरिंग की जा रही है। कार्यालय के बंद होने के पश्चात भी मोबाइल के माध्यम से जी.पी.एस. ट्रेकिंग के द्वारा म.प्र. बायो मेडिकल वेस्ट डिस्पोजल सिस्टम, इटौरा के वेस्ट संग्रहण में संलग्न वाहनों के आवागमन एवं कार्यों पर नियमित रूप से निगरानी रखी जा रही है तथा इसके द्वारा संग्रहित किये जा रहे अपशिष्ट एवं कोविड-19 अपशिष्ट की मात्रात्मक जानकारी से म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, मुख्यालय, भोपाल को मोबाइल ऐप के द्वारा अवगत कराया जा रहा है। क्षेत्रीय कार्यालय म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, शहडोल के द्वारा यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि कोविड-19 अपशिष्ट का प्रभावी रूप से प्रबंधन किया जाये, जिससे कि इस अपशिष्ट से किसी भी प्रकार से कोरोना वायरस का फैलाव न हो।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |