नई दिल्ली (जेएनएन)। भारतीय खुफिया एजेंसियों ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) की एक बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है। 18 महीने तक नजर रखने के बाद एक आतंकी को सितंबर 2017 में दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था, लेकिन शीर्ष राजनयिक और खुफिया सूत्रों ने इसकी पुष्टि अब की है।

शुरुआत में वह निजी कॉलेज के हॉस्टल में रहा था। बाद में लाजपत नगर स्थित एक फ्लैट में रहने लगा। गिरफ्तारी के बाद उसे अफगानिस्तान ले जाकर अमेरिकी सैन्य बेस को सौंप दिया गया। माना जा रहा है कि पिछले दिनों अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ अमेरिकी सेना को जो बड़ी सफलताएं मिली हैं, उसके पीछे इस हमलावर से मिली जानकारियां हैं।