# मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह का हुआ आगमन ##

Post 5

रेत की रॉयल्टी पर्ची से लाखों का कारोबार सीईओ ने बाटी मनमुताबिक पर्चियां पीएम आवास के नाम पर रेत का व्यापार (रमेश तिवारी की रिपोर्ट)

Post 1

पुष्पराजगढ़।

इन दिनो अनूपपुर जिले में लगातार रेत चोरी की खबरें प्रकाशित की जा रही है। जिसका विभाग द्वारा संज्ञान लेते हुए कुछ कार्यवाही भी की गई थीl प्राप्त जानकारी के अनुसार रेत परिवहन के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रधानमंत्री आवास के निर्माण कार्य के लिए रायल्टी पर्ची जारी की गई थी l जिसमें किस्मत के धनी सीईओ एम पी सिंह पटेल जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ को ही जिले मे पर्चियां प्राप्त हुई थी।वैसे भी सीईओ एम पी सिंह की किस्मत मेहरबान है।उनका प्रमोशन हुआ तथा पदस्थापना एडिशनल सीईओ जिला पंचायत शहडोल की गई है। लेकिन 6 माह बीत जाने के बाद भी यही पर जमे हुये है। पीएम आवास के लिए अनूपपुर जिले में रेत सुगमता के साथ हितग्राहियों को सस्ती दर पर उपलब्ध कराने के लिए रायल्टी पर्ची सीईओ के माध्यम से ग्राम पंचायतो व रेत ठेकेदारों को देना था।

सीईओ ने बांटी मनमुताबिक पर्चियां

Post 2

सीईओ ने बांटी मनमुताबिक पर्चियां:- किस्मत के धनी जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ के सीईओ एमपी सिंह पटेल को ही 150 पर्चियां लॉटरी के रूप में मिली। जिसका उन्होंने भरपूर उपयोग किया। अपने मन मुताबिक रेत ठेकेदारों को पर्चियां दे दी गई। जिन्होंने बीते दिनों जिले की जैतहरी और अन्य खदानों में जमकर रेत परिवहन का कारोबार किया।

कितने पीएम आवास के हितग्राहियों तक पहुंची रेत

रेत के इस कारोबार में अब सवाल यह उठता है कि 150 रॉयल्टी पर्चियो में से कितने पीएम आवास के हितग्राहियों तक रेत पहुंच सकी है। और इस कमीशन खोरी और बेईमानी के खेल मे रेत खिलाड़ियों के खिलाफ क्या कार्यवाही की जाती है।

शिकायत मिलने पर पर्चियां निरस्त 

जिला के मुखिया को इन पर्चियों के माध्यम से की जा रही कालाबाजारी की शिकायत लगातार मिल रही थी। जिसके कारण रायल्टी पर्ची के आदेश को निरस्त कर दिया गया।

50 हजार घन मीटर रेत की राशि जमा की गई

सीईओ जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ के मुताबिक उनके द्वारा 50 हजार घन मीटर खनिज रेत की राशि खनिज विभाग में जमा कर मैनुअल रॉयल्टी बुक ली गयी थी।जिससे पीएम आवास का निर्माण करा रहे हितग्राहियों को सस्ती दर पर रेत मुहैया हो सके तथा पीएम आवास का निर्माण कार्य कराया जा सके। इसके उलट हितग्राहियो के स्थान पर रेत माफियाओ को फायदा पहुचाया गया।

रायल्टी पर्चियां रद्द होने के बावजूद भी रेत का अवैध परिवहन जारी

जिला प्रशासन द्वारा रॉयल्टी पर्चियां रद्द कर दि गई है इसके बावजूद भी रेत माफिया द्वारा रेत का अवैध परिवहन धड़ल्ले के साथ किया जा रहा है। जानकारी दिए जाने के बाद भी खनिज प्रशासन मौन है । जिससे रेत माफियाओं के हौसले बुलंद है और वह लगातार रेत का अवैध परिवहन कर कालाबाजारी कर रहे हैं।

Post 4
Post 2
Post 3

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +919424776498

फर्जी बिल लगाने के बादशाह निकले…….गुप्ता     |     सी.एम. हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अफसरों का वेतन आहरण नहीं होगा@अनिल दुबे9424776498     |     प्रक्रिया का पालन करें पंचायतें, टेंडर से हो खरीदी फर्जी बिल पर लगेगा अंकुश…….यदुवंश दुबे ने व्यक्त किये अपने विचार@आसुतोष सिंह     |     बस वाहन चालक यात्रियों के जेब मे डाल रहे डाका ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     पशु चिकित्सालय के अस्तित्व पर खतरा ( वरिष्ठ पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से )     |     बिना कनेक्शन पहुंचा बिजली बिल, आश्रम को लगा करेंट का झटका (वरिस्ट पत्रकार यदुवंश दुबे की कलम से)     |     पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को द्वारा दसवें उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का किया भूमि पूजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ मे समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     पटना लांघाटोला से करपा जाने वाली रोड का कब होगा कायाकल्प ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |     शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने समीक्षा बैठक हुई संपन्न ( अनिल दुबे की रिपोर्ट )     |